उत्तर प्रदेश- योगी का फरमान मास्क न लगाने पर 10 हजार तक का जुर्माना

  

 कोविड-19 के मामलों में तेज बढ़ोत्तरी के मद्देनजर उत्तर प्रदेश सरकार ने रविवार को ‘लॉकडाउन’ लागू करने की घोषणा की। कोविद -19 के नए पुष्ट मामलों में हालिया उछाल के मद्देनजर रविवार को उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन लागू किया जाएगा। यह रविवार का लॉकडाउन राज्य भर के सभी शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों में लागू होगा।इसके अलावा, राज्य सरकार ने फेस मास्क पहनने वाले किसी भी व्यक्ति से 1,000 रुपये का जुर्माना वसूलने का भी फैसला किया है। जबकि पहली बार के अपराधियों के लिए जुर्माना 1,000 रुपये है, उसी व्यक्ति द्वारा दूसरी बार उल्लंघन करने पर 10,000 रुपये का जुर्माना लगेगा।उत्तर प्रदेश में संक्रमण के 20,510 नए पुष्ट मामले सामने आए। राज्य में अब कोविद -19 के 1.11 लाख से अधिक सक्रिय मामले हैं।यूपी में संडे लॉकडाउन के नियम शीर्ष अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वे रविवार को राज्यव्यापी तालाबंदी के दौरान सार्वजनिक स्थलों की पूरी तरह से सफाई सुनिश्चित करें। केवल आवश्यक सेवाओं को इस रविवार लॉकडाउन से छूट दी जाएगी। आवश्यक सेवाओं में काम करने वाले व्यवसायों को छोड़कर सभी कार्यालय रविवार को भी बंद रहेंगे। यूपी में 10 जिलों में प्रतिबंधों के कड़ाई से कार्यान्वयन पर विशेष जोर दिया गया था, ताकि संक्रमण की दर बढ़े। स्थानीय अस्पतालों को कोविद केंद्रों में परिवर्तित किया जाएगा।

 

यूपी में संडे लॉकडाउन के नियम

 शीर्ष अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वे रविवार को राज्यव्यापी तालाबंदी के दौरान सार्वजनिक स्थलों की पूरी तरह से सफाई सुनिश्चित करें। केवल आवश्यक सेवाओं को इस रविवार लॉकडाउन से छूट दी जाएगी। आवश्यक सेवाओं में काम करने वाले व्यवसायों को छोड़कर सभी कार्यालय रविवार को भी बंद रहेंगे।

यूपी में 10 जिलों में प्रतिबंधों के कड़ाई से कार्यान्वयन पर विशेष जोर दिया गया था, ताकि संक्रमण की दर बढ़े। स्थानीय अस्पतालों को कोविद केंद्रों में परिवर्तित किया जाएगा।

क्षेत्रीय जरूरतों के अनुसार नए कोविद -19 अस्पताल भी स्थापित किए जाएंगे। साथ ही, उत्तर प्रदेश के स्थानीय अस्पतालों को कोरोनावायरस रोगियों के इलाज के लिए सुविधाओं में परिवर्तित किया जाएगा। 

प्रयागराज में यूनाइटेड मेडिकल कॉलेज भी एक समर्पित कोविद -19 अस्पताल में बदल जाएगा।

108 एंबुलेंस का आधा हिस्सा, केवल उत्तर प्रदेश में कोविद -19 रोगियों को फेयर करने के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।

यूपी सरकार ने कहा कि होम आइसोलेशन के मरीजों का भी ध्यान रखा जाएगा। एंबुलेंस के रिस्पांस टाइम को कम करने और लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन और अन्य दवाओं की आपूर्ति को बढ़ाने सहित इस आशय के उपाय किए जाएंगे। 


Sources:Prabhashakshi