सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

देहरादून: मिस फ्रेश फेस सब-टाइटल के लिए आकर्षक लुक में उतरीं मॉडल

  सिनमिट कम्युनिकेशंस की ओर से एस्ले-हॉल स्थित कमल ज्वेलर्स में मिस उत्तराखंड-2021 के फर्स्ट सब-टाइटल का आयोजन किया गया। इस मौके पर 27 मॉडल्स फ्रेश फेस की रेस में शामिल रहीं। हालांकि इसका अनाउंसमेंट ग्रैंड फिनाले वाले दिन ही किया जाएगा।मंगलवार को आयोजित मिस फ्रेश फेस सब-टाइटल को लेकर जजेज ने मॉडल्स को मार्क्स दिए। वहीं मॉडल्स भी फेस को बेहद आकर्षक बनाकर सामने आई। इस मौके पर देहरादून, उत्तरकाशी, पिथौरागढ़, रुद्रप्रयाग, टिहरी, पौड़ी, धारचूला आदि जगहों की प्रतिभागियों ने इसमें हिस्सा लिया। जजेस में मिस ब्यूटीफुल आइज-2019 प्रीति रावत, डायरेक्टर कमल ज्वेलर्स और मिस फैशन दिवा-2019 बबीता बिष्ट शामिल रहीं। इस मौके पर आयोजक दिलीप सिंधी ने बताया कि इन मॉडल्स के कॉन्फिडेन्स को बढ़ाने के लिए अब ग्रूमिंग क्लासेज शुरू हो गयी है। जिसमें ड्रेस, मेकअप से लेकर उनकी कम्युनिकेशन स्किल्स राउंड को निखारा जा रहा है।बताया कि आयोजन का ग्रैंड फिनाले दिसंबर में होगा। आयोजक राजीव मित्तल ने बताया कि पिछले साल कोरोना की वजह से आयोजन पर ब्रेक लग गया था। बताया कि अलग-अलग राउंड के बाद इसका ग्रैंड फिनाले होगा। इस मौके पर

गड़बड़झाला- भोपाल में एक साथ 112 शवों का अंतिम संस्कार,सरकारी रिकॉर्ड में सिर्फ चार,विपक्ष हुआ मुखर




 कोरोना की दूसरी लहर ने मध्य प्रदेश को बुरी तरह से अपनी चपेट में ले लिया है। राज्य की स्थिति हर रोज बिगड़ती जा रही है। राज्य में मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही मेडिकल संसाधनों की भी कमी होने लगी है। राजधानी भोपाल में कोरोना से हालात ज्यादा खराब हैं। बीते 24 घंटे में भोपाल में 1681 नए मामले दर्ज किए गए हैं। वहीं 112 शवों का अंतिम संस्कार किया गया है। हालांकि सरकारी रिकॉर्ड में सिर्फ 4 लोगों की मौत हुई है। पहली बार एक साथ इतने संक्रमितों की हुई अंत्येष्टि से प्रशासन भी सकते में है, वहीं लोग भी खौफजदा हैं। भोपाल में पॉजिटिविटी रेट 29% से ऊपर पहुंच गई है।भोपाल, जबलपुर, इंदौर और ग्वालियर में अंतिम संस्कार के लिए इंतजार करना पड़ रहा है। श्मशान घाटों पर एक के बाद एक शवों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है।

एक दिन में मौतों की संख्या 100 के पार

भोपाल के सुभाष नगर विश्रामघाट पर गुरुवार को 50 शव पहुंचे जिसमें 30 शवों को कोविड प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार किया गया । वहीं भदभदा विश्रामघाट पर 88 शव आए। जिसमें 72 को कोरोना के तहत अंत्येष्टि की गई । इसके अलावा झदा कब्रिस्तान में 17 में से 10 शवों को कोविड प्रोटोकॉल के तहत दफनाया गया। यानी 112 शवों को कोरोना प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार किया गया।

कांग्रेस का सरकार पर आंकड़े छुपाने का आरोप

कोरोना से हो रही मौतों के आंकड़े में गड़बड़झाला सामने आया है। लगातार बढ़ रहे मौत के आंकड़ों से प्रशासन की नींद उड़ गई है।  वहीं मौत के आंकड़ों ने सरकार पर कई सवाल खड़े किए हैं। विपक्ष लगातार सरकार पर मौत के आंकड़े छुपाने का आरोप लगा रहा है। प्रदेश के कांग्रेस नेता अजय सिंह यादव ने सरकार पर मौत के आंकड़ों में हेराफेरी का आरोप लगाया है। अजय सिंह ने कहा कि सरकार प्रदेश में कोरोना को लेकर गंभीर नहीं है। वहीं  चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने विपक्ष के सवाल पर पलटवार करते हुए कहा कि सरकार मौत के आंकड़ों को नहीं छुपा रही है। जिन लोगों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है उसे भी संदिग्ध माना जा रहा है। 

24 घंटे में 10 हजार से ज्यादा केस

राज्य में गुरुवार को 10,166 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। जबकि 53 की मौत हो गई।  3,970 लोग रिकवर होकर घर लौट गए हैं। अब तक यहां 3.73 लाख एक्टिव केस हैं। इनमें 3.13 लाख लोग ठीक हो चुके हैं। 


Sources:Hindustan



टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव

चित्र

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश