री-एजुकेशन कैंप में उइगर महिलाओं के साथ होता है रेप,शिविर से भागी महिला बंदी ने बताई चीन की हैवानियत

इन दिनों एक रिपोर्ट के सामने आने के बाद एक बड़ा सवाल सामने है कि क्या चीन दुनिसा और इंसानियत के लिए खतरा बन गया है। सीधे खबर आना मीडिया पर पाबंदी जैसे देशों में मुश्किल है। इसी फायदा उठा चीन उइगरों पर जुल्म करता है। अजान पर पहरा, टोपी-बुर्के पर पाबंदी जैसी बातें तो पहले भी सामने आती रहती हैं। ये तो दुनिया जानती है कि 2014 से ही चीन ने उइगरों के लिए ट्रेनिंग कैंप के नाम पर कंसंट्रेशन कैंप बनाए जहां उइगर पुरूषों-महिलाओं को रखा जाता है। लेकिन इन ट्रेनिंग कैंपों से खबर बाहर नहीं आती। लेकिन इस बार इस कैंप से एक महिला ने बाहर आकर जो कहा उसे सुनकर हैवानियत भी शर्मशार हो जाएगी। चीन की क्रूरता और हैवानियत का खुलासा बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में किया है। कंसंट्रेशन कैंप में रह रही महिला ने अपनी आप-बीती सुनाते हुए कहा है कि चीन की कम्युनिस्ट सरकार की तरफ से चलाए जा रहे री-एजुकेशन कैंप में महिलाओं के साथ पूरी योजना के साथ रेप किया जा रहा है। उन्हें यौन प्रताड़ना का शिकार बनाया जा रहा है और यातनाएं दी जा रही हैं।महिला ने कहा कि आधी रात के बाद किसी भी वक्त वे सेल में आ जाते और कुछ औरतों को उठा कर ले जाते थे।वहां कोई सर्विलांस कैमरा नही होता था। फिर उनके साथ मास्क पहना कोई मास्क पहना कोई आदमी बलात्कार करता था। महिलाओं के साथ सामूहिक बलात्कार भी होता था। Sources:AgencyNews