नरेंद्र मोदी स्टेडियम पर शिवसेना का तंज,कहा-जनादेश मिला है गैर.जिम्मेदारी का लाइसेंस नहीं

गुजरात के अहमदाबाद में पीएम नरेंद्र मोदी के नाम पर दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम बनाए जाने को लेकर शिवसेना ने शुक्रवार को केंद्र पर निशाना साधा। शिवसेना ने कहा कि सरकार को आखिरी चुनाव में जो भारी जनादेश मिला था वह कोई गैर-जिम्मेदाराना काम करने का लाइसेंस नहीं था। शिवसेना ने कहा, “हमेशा ही आरोप लगाया जाता रहा है कि कांग्रेस ने सरदार पटेल का नाम खराब करने का काम किया। लेकिन गुजरात में स्थित सरदार पटेल स्टेडियम का नाम बदलकर उसे मोदी स्टेडियम किया जाए, ऐसा क्या सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने सुझाया था क्या? सरदार पटेल का नाम मिटाने का प्रयास निश्चित तौर पर कौन कर रहा है, वह इस घटना से सामने आ गया है। शिवसेना ने सवाल उठाया कि दुनिया का हर बड़ा काम गुजरात में ही क्यों होता है। अखबार में कहा गया, “मोदी-शाह के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार की सोच हर बड़ा काम गुजरात से शुरू कराने के विचार से ग्रस्त दिखाई पड़ती है। ” शिवसेना ने सामना में कहा कि- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महान हैं, इसमें कोई शंका नहीं है। लेकिन वे सरदार पटेल, महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी से भी महान हैं, ऐसा मोदी भक्तों को लगता होगा तो इस अंधभक्ति की अगली सीढ़ी मानना होगा। सरदार पटेल का नाम हटाकर मोदी का नाम लगाने का प्रयास व परिश्रम जिन्होंने किया, उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को छोटा बना दिया। Sources:Hindustan samachar