उत्तराखंड में फिर करवट बदल सकता है मौसम,मौसम विभाग ने जताई बारिश व बर्फबारी की संभावना

जनवरी के आखिरी हफ्ते में जहां प्रदेश के मैदानी क्षेत्र शीतलहर की चपेट में थे और पहाड़ों में मौसम विभाग हिमपात की चेतावनी दे रहा था। वहीं अब फरवरी के तीसरे सप्ताह तक आते-आते तापमान ने ऊपर को चढ़ना शुरू कर दिया है। देहरादून में इस पूरे माह सिर्फ एक दिन को छोड़कर पारा लगातार 20 डिग्री सेल्सियस से ऊपर बना हुआ है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के हिसाब से अब तापमान में नीचे आने के आसार कम हैं। लंबे समय से पर्वतीय इलाकों में अच्छे हिमपात और मैदानी क्षेत्रों में अच्छी बारिश की उम्मीद लगाए लोगों को मौसम की बेरुखी से झटका लगा है। ऋतुराज बसंत का आगमन हो चुका है। मौसम का मिजाज सर्दी से गर्मी की ओर कदम बढ़ चुका है। बीते साल नवंबर, दिसंबर के बाद इस साल जनवरी और अब फरवरी में कम बारिश का आंकड़ा चिंताएं बढ़ा रहा है। सर्दियों में कम बारिश और अब पारे की तेजी ने आने वाले दिनों की तस्वीर स्पष्ट कर दी है। शुक्रवार को उत्तराखंड में सर्वाधिक तापमान 27.1 डिग्री सेल्सियस धनौरी (हरिद्वार) में रहा। वहीं न्यूनतम तापमान 1.9 डिग्री सेल्सियस रानीचौरी में रिकार्ड किया गया। देहरादून में शुक्रवार को अधिकतम तापमान 26.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इस साल देहरादून का अधिकतम तापमान 16 फरवरी को 27.5 तक गया है, जबकि न्यूनतम तापमान में भी अधिकतम 13 फरवरी को 10.6 तक रहा है। फरवरी का आखिरी सप्ताह अभी बाकी है और तापमान अब ऊपर को ही जाता दिख रहा है। अगले चार पांच दिनों में मौसम विभाग ने दून का अधिकतम तापमान 29 के आंकड़े तक जाने का अनुमान लगाया है। फरवरी में इस बार सिर्फ एक दिन ऐसा रहा, जब अधिकतम तापमान 20 से कम 17.3 डिग्री तक रहा। जबकि सबसे कम न्यूनतम तापमान पांच फरवरी को 5.4 डिग्री सेल्सियस के साथ रहा। मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार इस समय अधिकतम तापमान सामान्य से चार डिग्री अधिक चल रहा है। जबकि न्यूनतम तापमान भी सामान्य से दो डिग्री अधिक है। कई जिलों में फरवरी में बारिश नहीं देहरादून। प्रदेश में पिछले तीन महीने उम्मीद के अनुरूप बारिश नहीं हुई है। नवंबर में 34 फीसदी बारिश के बाद दिसंबर में सामान्य से 55 फीसदी कम बारिश हुई। जनवरी से अभी तक राज्य में सामान्य से 49 फीसदी कम बारिश हुई है। ये आंकड़ा आने वाले दिनों के लिए चिंताजनक है। फरवरी माह में अल्मोड़ा, चंपावत, देहरादून, पौड़ी, टिहरी, हरिद्वार, नैनीताल, रुद्रप्रयाग, ऊधमसिंह नगर बारिश दर्ज ही नहीं की गई है। 20 और 22 को दो पश्चिमी विक्षोभ होगा सक्रिय राज्य में 20 और 22 फरवरी को एक के बाद एक दो पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में सक्रिय होते दिख रहे हैं। मौसम विभाग इनकी स्थिति पर नजर बनाए हुए है। जनवरी और फरवरी में जो भी पश्चिमी विक्षोभ आए वह या तो कम प्रभावी रहे या फिर वह प्रदेश के ऊपर से होकर गुजर गए। इस वजह से बारिश में कमी आई। आने वाले दिनों में भी ऐसी बारिश के आसार नहीं हैं। बिक्रम सिंह, निदेशक मौसम विभाग देहरादून Sources:Agency News