हाथरस घटना के विरोध में वाल्मीकि संगठनों का पंजाब बंद, जालंधर पहुंचे भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर



अली मोहल्ला पुली बस्ती पीर दाद जीटी रोड भगवान वाल्मिकी चौक डाक्टर बीआर आंबेडकर चौक सहित कई इलाकों से समाज के सदस्य संगठित होकर शहर के विभिन्न इलाकों की तरफ से निकले। इस संबंध में वाल्मीकि भाईचारे ने पहले से ही 10 अक्टूबर को बंद का आह्वान किया था।




 


जालंधर / यूपी के हाथरस में हुई घटना के विरोध में शनिवार को पंजाब में हो रहे प्रदर्शनों के बीच भीम सेना के राष्ट्रीय संचालक चंद्रशेखर भी जालंधर पहुंचे। यहां श्री गुरु रविदास चौक में लगाई के धरने में शामिल हुए चंद्रशेखर ने घटना की कड़ी निंदा की।


 


उन्होंने कहा कि देश में एससी/बीसी तथा अल्पसंख्यकों के अधिकारों का हनन हो रहा है। इतने दिन बीत जाने के बाद भी मामले के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई ना होने से समूचे भाईचारे में रोष बढ़ता जा रहा है। इस बात से यह अंदाजा भी लगाया जा सकता है कि सरकार एससी/बीसी भाईचारे की जरूरतों तथा मांगों को लेकर कितनी गंभीर है। उन्होंने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करते हुए पीड़ित परिवार को मुआवजा तथा परिवार में एक सदस्य को सरकारी नौकरी देनी चाहिए। बता दें कि शनिवार को शहर के विभिन्न वाल्मीकि संगठन सड़कों पर उतर आए। आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग तथा अनुसूचित वर्ग के साथ हो रही धक्शाही का विरोध जताने के लिए वाल्मीकि संगठनों के सदस्यों ने जमकर रोष जताया। उनका आरोप था कि घटना के इतने दिन बीत जाने के बाद भी दोषियों पर कार्रवाई न होने से समाज में रोष बढ़ता जा रहा है। घटना के विरोध में अली मोहल्ला पुली, बस्ती पीर दाद, जीटी रोड, भगवान वाल्मिकी चौक, डाक्टर बीआर आंबेडकर चौक सहित कई इलाकों से समाज के सदस्य संगठित होकर शहर के विभिन्न इलाकों की तरफ से निकले।इस संबंध में वाल्मीकि भाईचारे द्वारा पहले से ही 10 अक्टूबर को सुबह 10 से दोपहर 3 बजे तक बंद का आह्वान किया गया था। इसके लिए जहां मार्केट एसोसिएशनों को सहयोग देने की अपील की गई थी, वही शनिवार को बंद को सफल बनाने के लिए भाईचारे को संगठित होने का आह्वान भी किया गया था।



 


पंजाब बंद के चलते जालंधर सिटी रेलवे स्टेशन भी पड़ा सूना


शहर के विभिन्न चौक चौराहों पर हो रहे धरने प्रदर्शन का असर सिटी रेलवे स्टेशन पर भी दिखा। किसानों के रेल रोको आंदोलन के चलते ट्रेनें पहले से ही बंद हैं। कोई भी ट्रेन पंजाब की सीमा में प्रवेश नहीं कर पा रही है। ट्रेनों को अंबाला तक ही लाया जा रहा है और वहीं से वापसी के गंणतव्य पर भेजा जा रहा है। पंजाब बंद की वजह से हर गली-मोहल्ले व बाजारों की दुकानों व दफ्तरों को विभिन्न संगठनों की तरफ से बंद करवा जा रहा है। जिस वजह से स्टेशन पर ट्रेन टिकट का रिफंड लेने के लिए आने वाले यात्री भी स्टेशन पर नहीं पहुंच पा रहे हैं। यही कारण है कि सिटी रेलवे स्टेशन पर इक्का-दुक्का लोगों के सिवाए स्टेशन पर भी कोई यात्री नजर नहीं आ रहा है और टिकट काउंटर भी पूरी तरह से खाली पड़े हुए हैं।


Source:Agency News