सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

इंटरनेट मीडिया से हो रहे चुनाव प्रचार में ग्रामीण भारत का एक बड़ा वर्ग अछूता

जैसा कि आपको मालूम है कि कोविड-19 की गाइडलाईन को ध्यान में रखकर चुनाव आयोग ने वर्चुअल रैली और प्रचार प्रसार के निर्देश जारी किये थे। जैसा की आपको मालूम है कि इस वक्त देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैंऔर कोरोना की वजह से न तो रैलियां हो रही हैं और न ही रोड शो के जरिये राजनीतिक दल जनता के बीच अपना शक्ति प्रदर्शन ही कर पा रहे हैं।  लिहाजा सारा चुनाव प्रचार डिजिटल प्रारूप में ही सिमट कर रह गया है। गौरतलब है कि चुनाव आयोग की पाबंदी के कारण राजनीतिक दल और नेता इंटरनेट मीडिया के विभिन्न मंचों के जरिये जनता के बीच अपनी पैठ बनाने में लगे हैं। इन्हीं मंचों पर अपनी प्रचार सामग्री को परोसकर पार्टियां चुनाव में अपनी स्थिति को मजबूत करने में जुटी हैं। मतदाताओं को लुभाने के लिए इस बार राजनीतिक पार्टियां लोकगीतों के रूप में अपने अपने प्रचार गीत बनवाकर  इंटरनेट मीडिया के मंचों पर उन्हें साझा करके जनता के दिलोदिमाग पर छा जाने को बेताब हैं। इस संग्राम में आगे निकल जाने की स्पर्धा लगभग सभी दलों में दिखाई दे रही है। ऐसे में यहां यह सवाल तैर रहा है कि लोकतंत्र के इस चुनावी त्योहार में क्या यह

देवभूमि में ओमीक्रोन की दस्तक,दिल्ली में संक्रमित परिजनों से मिले दून के दंपति को कोरोना

 


 देहरादून में कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन का खतरा बढ़ गया है। राजपुर में एक अपार्टमेंट में रहने वाले बुजुर्ग पति-पत्नी कोरोना संक्रमित निकले हैं। दंपति 13 दिसम्बर को अपने परिजनों के पास चार दिन रहकर आए हैं। जिनमें से तीन ओमीक्रोन संक्रमित निकले हैं। वह कुवैत से लौटे हैं। अपार्टमेंट को सील किया जा रहा है। दंपति की दो नौकरानियों के भी सैम्पल लिए गए हैं। बुजुर्ग दंपति की जीनोम सैंपलिंग कराई जा रही है। सीएमओ डा. मनोज उप्रेती ने बताया कि बुजुर्ग दंपति नौ से 13 दिसम्बर तक दिल्ली में अपने परिवार से मिलकर लौटे हैं। जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर उनका सैंपल लेकर आरटीपीसीआर जांच के लिए भेजा गया था। जांच में दोनों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. राजीव दीक्षित ने बताया कि वह दिल्ली में कुवैत से लौटे अपने परिवार के सदस्यों से मिले थे। जिस पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दिल्ली में संबंधित क्षेत्र के स्वास्थ्य अधिकारियों से संपर्क किया। उन्होंने बताया कि उनके परिवार के तीन सदस्यों में ओमीक्रोन संक्रमण की पुष्टि हुई है। जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बुजुर्ग दंपति राजपुर रोड स्थित प्रथन्ना वैली अपार्टमेंट में रहता है। ये लोग ओमीक्रोन संक्रमित व्यक्तियों के हाई रिस्क कान्टेक्ट हैैं। उनके सैैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए दून मेडिकल कालेज की वायरोलॉजी लैब में भेजे गए हैैं। क्योंकि ये लोग ओमीक्रोन संक्रमित के संपर्क में आए हैं, इसलिए जिस अपार्टमेंट में वह रह रहे हैं उसका एक फ्लोर कंटेनमेंट जोन बनाया जा रहा है। जिला प्रशासन को इसकी संस्तुति भेज दी गई है।कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए दून अस्पताल में कोरोना संदिग्ध मरीजों के लिए आयुष्मान बिल्डिंग में नया वार्ड शुरू कर दिया गया है। कार्यवाहक एमएस डॉक्टर एनएस खत्री ने बताया कि सोमवार से लोअर आयुष्मान वार्ड को संदिग्धों के लिए खोल दिया गया है। 

टिप्पणियाँ

Popular Post