सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

हरक की घर वापसी, बहू अनुकृति ने भी थामा कांग्रेस का हाथ

देहरादून: पांच दिनों तक मचे सियासी घमासान के बाद आखिरकार पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और उनकी बहू अनुकृति गुसाईं ने आज दिल्‍ली में कांग्रेस का दामन थाम लिया।  इस दौरान पूर्व मुख्‍यमंत्री हरीश रावत समेत कई कांग्रेस नेता मौजूद रहे। इस दौरान हरक सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश का विकास मेरा लक्ष्‍य है। उन्होंने कहा कि मैं बिना शर्त कांग्रेस परिवार में शामिल हुआ हूं।हरक ने कहा मैंने 20 साल तक कांग्रेस के लिए काम किया है। मैं सोनिया गांधी का एहसान किसी भी कीमत पर नहीं भूलूंगा । वहीं देर आयद दुरूस्त आये की कहावत चरितार्थ करते हुये कांग्रेस में पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत की वापसी पर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत की आपत्ति के बाद पेच फंसा हुआ था । हालांकि सरकार तोडने में हरक की भूमिका जिसमे उन्होंने वर्ष 2016 में बगावत कर उनकी सरकार गिराई भी हरीश रावत बहुत नाराज थे जिसको लेकर हरीश रावत के तीखे तेवरों में अभी कमी नहीं आई है। वह हरक सिंह रावत को लोकतंत्र का गुनहगार बताते हुए पहले माफी मांगने पर जोर देते रहे। लेकिन हरीश रावत कह चुके थे कि हरक की

प्रधानमंत्री ने किया 17547 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास

 


हल्द्वानी पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि उत्तराखंड में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। कहा कि रोड कनेक्टिविटी से प्रदेश में विकास को गति मिलेगी। उत्तराखंड के गढ़वाल व कुमाऊं मंडल के विभिन्न जिलों में रोड कनेक्टिविटी बेहतर होने से उद्यमियों को भी फायदा पहुंचेगा, जिससे रोजगार के अवसर मिलेंगे। युवाओं को रोजगार मिलने से प्रदेश में पलायन पर भी मार पड़ेगी। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह दशक उत्तराखंड का दशक है। कहा कि प्रदेश में विकास योजनाओं के लिए ठोस कदम उठाए गए हैं। उत्तराखंड को तराई से जोड़ने के लिए 9हजार करोड़ रुपये की लागत से सड़कों का जाल बिछाया जाएगा। कहा कि प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना से 1200 किमी की सड़क भी बनाई जाएगी और विभिन्न रूटों पर सौ से भी ज्यादा पुलों का निर्माण होगा। पीएम मोदी ने कहा कि पर्यटन, सड़क, कृषि, रोजगार क्षेत्रों का दशक उत्तराखंड में शुरू हो चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड में 17,500 करोड़ रुपये की 23 विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। 23 परियोजनाओं में से 14,100 करोड़ रुपये की 17 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। ये परियोजनाएं सिंचाई, सड़क, आवासीय स्वास्थ्य इन्फ्रास्ट्रक्चर, उद्योग, स्वच्छता, पेयजल आपूर्ति सहित कई सेक्टर से संबंधित हैं। इसके अलावा, छह परियोजनाओं का भी उद्घाटन हुआ। इनमें सड़क चौड़ीकरण परियोजनाएं, पिथौरागढ़ में एक पनबिजली परियोजना और नैनीताल में सीवरेज नेटवर्क में सुधार से जुड़ी परियोजनाएं भी शामिल हैं। इन परियोजनाओं की कुल लागत 3,400 करोड़ रुपये है।

टिप्पणियाँ

Popular Post