सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव.संग्राम 2022: भाजपा.और आप के बीच में छिड़ा स्टार वार,कांग्रेस कर रही इंतजार

      भाजपा व आप ने रणनीति के तहत स्टार वार का गेम शुरू किया है। दरअसल, आचार संहिता लागू होने पर वीवीआईपी की रैलियां कराने के लिए पूरा खर्चा प्रत्याशियों के खाते में शामिल होता है।  उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले स्टार वार शुरू हो चुका है। भाजपा और आम आदमी पार्टी अभी इसमें आगे चल रही है, जबकि कांग्रेस अभी इंतजार के मूड में है।   निर्वाचन आयोग की टीमों की इस पर पैनी नजर रहती हैं।  निर्धारित सीमा से ज्यादा खर्च होने की दशा में ऐसे प्रत्याशियों को आयोग के नोटिस झेलने पड़ते हैं और चुनाव के वक्त इनका जवाब देने में उनका समय अनावश्यक जाया होता है। भाजपा में सबसे ज्यादा डिमांड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की है। वे दो माह के भीतर उत्तराखंड के दो दौरे कर चुके हैं। पहले वे सात अक्तूबर को ऋषिकेश एम्स में आक्सीजन प्लांट जनता को समर्पित करने आए और इसके बाद पांच नवंबर को केदारनाथ धाम के दर्शन को पहुंचे। अब मोदी चार दिसंबर को दून में चुनाव रैली संबोधित करने आ रहे हैं। उधर, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस बीच दो दौरे कर चुके हैं। अक्तूबर में कुमाऊं के कई हिस्सों में आपदा के बाद वे रेस्क्यू आपरेशन

मीरजापुर: बच्‍चे को बालकनी से उल्‍टा लटकाने पर स्कूल का प्रबंधक गिरफ्तार

 





 मीरजापुर /   अहरौरा क्षेत्र के डीह मोहाल में स्थित सद्भावना शिक्षण संस्थान में कक्षा दो के छात्र को बालकनी से उल्टा लटकाने के आरोपित प्रबन्धक मनोज कुमार विश्वकर्मा को पुलिस ने शुक्रवार की सुबह नगर के बूढ़ादेइ वार्ड स्थित वादी के घर के पास से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

डीह मोहाल में स्थित सद्भावना शिक्षण संस्थान में कक्षा दो का छात्र सोनू यादव अपने सहपाठियों के साथ विद्यालय के बाहर गोलगप्पा खाने चला गया था। विद्यालय के बाहर के गेट से परिसर में वापस आता देख प्रबन्धक मनोज कुमार विश्वकर्मा ने उससे पूछताछ किया। इस दौरान उसने बताया कि उसे भूख लगी थी वह गोलगप्पे खाने चला गया था जिससे प्रबन्धक नाराज हो गए। 

विद्यालय में मौजूद सभी बच्चों को बुलाकर सबके सामने उसने उसे बालकनी के छत से उल्टा लटका दिया। अन्य बच्चों को वह इसलिए बुलाया कि अगर फिर से कोई बच्चा कोई गलती करेगा तो उसे भी वह ठीक इसी तरह दंडित करेगा। जिसे देख अन्य बच्चे भी भयभीत हो गए। 

प्रबन्धक के इस बेहूदा करतूत का किसी ने फोटो खींच लिया और इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिया।इंटरनेट मीडिया पर फोटो वायरल होते ही तेजी से यह फैलने लगा और दोषी के खिलाफ लोगों ने कार्यवाही की मांग करना शुरू किया। गुरुवार की देर रात बीईओ अरुण सिंह मौके पर पहुंच कर बच्चे के पिता रणजीत यादव को थाने लाए और आरोपित प्रबन्धक के विरुद्ध आरटीई एक्ट के नियमो का पालन नहीं करने सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर कराया। थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह ने बताया कि आरोपित प्रबन्धक मनोज कुमार विश्वकर्मा के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर उसे शुक्रवार को वादी के घर के पास से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।





टिप्पणियाँ

Popular Post