सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश

    नई दिल्‍ली /   सुप्रीम कोर्ट त्रिपुरा में हाल ही में हुई सांप्रदायिक हिंसा के मामले में राज्य पुलिस की कथित मिली-भगत और निष्क्रियता के आरोपों की स्वतंत्र जांच के लिए दाखिल याचिका पर सुनवाई के लिए सहमत हो गया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर सोमवार को केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। न्यायमूर्ति डीवाई चन्द्रचूड़ और न्यायमूर्ति एएस बोपन्ना की पीठ ने सरकारों को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने का निर्देश दिया है।  अधिवक्ता ई. हाशमी की ओर से दाखिल याचिका पर अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने पैरवी की। उन्‍होंने सर्वोच्‍च अदालत से कहा कि वे हालिया साम्प्रदायिक दंगों की स्वतंत्र जांच चाहते हैं। इस मामले में अब दो हफ्ते बाद सुनवाई होगी। भूषण ने कहा कि सर्वोच्‍च अदालत के समक्ष त्रिपुरा के कई मामले लंबित हैं। पत्रकारों पर यूएपीए के आरोप लगाए गए हैं। यही नहीं कुछ वकीलों को नोटिस भेजा गया है। पुलिस ने हिंसा के मामले में कोई एफआइआर दर्ज नहीं की है। ऐसे में अदालत की निगरानी में इसकी जांच एक स्वतंत्र समिति से कराई जानी चाहिए। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने याचिका की प्रति केंद्रीय एजेंसी और

अमित शाह के मंच पर मंत्री टेनी को देख अखिलेश ने कसा तंज

 


 अमित शाह के मंच पर अजय मिश्र टेनी के दिखने अखिलेश यादव ने तंज कसा। अखिलेश ने कहा कि जब लखीमपुर खीरी वाले मंत्री गृह मंत्री के साथ है जनता को क्या न्याय मिलेगा। जनता यह सब देख रही है। अखिलेश ने भाजपा सरकार पर हमला साधते हुए कहा कि चाहे जितनी भी रणनीति बना ले।

 जनता ने भाजपा को हराने का मन बना लिया है।अखिलेश यादव ने पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के घटिया निर्माण बताते हुए कहा कि आखिरकार देश की बड़ी कंपनियों को टेंडर क्यों नहीं दिए गए और वही पूर्वांचल एक्सप्रेस वे जैसे बड़े प्रोजेक्ट में भाजपा के सहयोगी व चहेते लोगों को टेंडर दिया गया। भाजपा के मेयर के भाई की कंपनी पर भी सवाल उठाया। 

अखिलेश ने एक सवाल के जवाब में कहा कि कद्दावर और बहादुर नेताओं को ही सपा जॉइन करा रही है। पश्चिम से भाजपा के घुसने का रास्ता बंद कर दिया गया है और पूर्वांचल में राजभर के साथ हुई बड़ी रैली का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि पूर्वांचल और पश्चिम दोनों तरफ से भाजपा के जीतने का रास्ता बंद कर दिया है और बीच में हम मौजूद हैं। भाजपा नेता, सभी नेता एक दूसरे को हराने में लगे हुए है।

टिप्पणियाँ

Popular Post