दो साल से कम उम्र के बच्चों को नहीं मिल रहे जरूरी पोषक तत्व: यूनिसेफ

 


 

संयुक्त राष्ट्र की संस्था यूनिसेफ की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि दो साल से कम उम्र के बच्चों को विकास के लिए आवश्यक पर्याप्त भोजन या पोषक तत्व नहीं मिल रहे और साथ ही इसमेंचेतावनी दी गई है कि कोविड-19 महामारी में यह स्थिति और बदतर हो सकती है।इस सप्ताह होने वाले ‘संयुक्त राष्ट्र खाद्य प्रणाली सम्मेलन’ से पहले संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) की एक रिपोर्ट सामने आई है। रिपोर्ट के अनुसार, इस अध्ययन में बच्चों की माताओं से बातचीत की गई और पाया गया कि ऑस्ट्रेलिया, इथियोपिया, घाना, भारत, मेक्सिको, नाइजीरिया, सर्बिया और सूडान में हर तीन में से एक बच्चे को प्रतिदिन कम से कम एक बार प्रसंस्कृत या अति प्रसंस्कृत भोजन या पेय दिया जाता है।रिपोर्ट में कहा गया कि बढ़ती गरीबी, असमानता, युद्ध, जलवायु संबंधी आपदा और कोविड-19 जैसी स्वास्थ्य आपदाओं के कारण विश्व के कई देशों में बच्चों को उचित पोषक तत्व नहीं मिल पा रहे हैं और पिछले 10 साल में इस स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया है।रिपोर्ट में कहा गया, ‘‘हमने 18 देशों में माताओं और पोषण विशेषज्ञों से बातचीत की कि वे बच्चों को भोजन देने का निर्णय कैसे लेते हैं। हमें पता चला कि अफगानिस्तान, बांग्लादेश और भारत में माताओं को ऐसे सामाजिक नियमों का पालन करना पड़ता है जिससे वह भोजन खरीदने का निर्णय नहीं ले पाती।’’भारत में यूनिसेफ की प्रतिनिधि यास्मीन अली हक ने कहा, ‘‘कोविड-19 के कारण पोषण संबंधी चुनौतियां बढ़ गई हैं। यदि हम बच्चे की पोषण स्थिति को प्रभावित करने वाले बहुक्षेत्रीय निवेश को अधिकतम करना चाहते हैं तो स्वास्थ्य, पोषण और सामाजिक सुरक्षा सेवाओं का प्रभावी वितरण महत्वपूर्ण है।