देहरादून: नशा मुक्ति केंद्र से भागी युवतियों के गंभीर आरोप, कहा- दुष्कर्म करता था संचालक

 


 देहरादून /   दून के क्लेमेनटाउन क्षेत्र स्थित एक नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती चार युवतियों ने संचालक पर दुष्कर्म के आरोप लगाए हैं। केंद्र संचालक की हरकतों के कारण ही युवतियां मौका पाकर भाग गईं थीं, जिन्हें पुलिस ने रेस कोर्स स्थित एक होटल से बरमाद कर लिया था। पुलिस की पूछताछ में युवतियों ने आपबीती सुनाई। इसके बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है। वहीं, मामले में महिला आयोग भी सक्रिय हो गया है। एसओ धर्मेंद्र रौतेला ने बताया कि प्रकृति विहार, टर्नर रोड, क्लेमेनटाउन में स्थित वाक एंड विन सोबेर लीविंग होम एंड काउंसिलिंग सेंटर नशा मुक्ति केंद्र में फरवरी में पांच युवतियों को नशा छुड़वाने के लिए भर्ती कराया गया था। बीते गुरुवार की शाम करीब पौने छह बजे मौका देखकर युवतियों ने गेट का ताला खोला और फरार गई। केंद्र के संचालक को जब जानकारी मिली तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी।एसओ ने बताया कि केंद्र में कुल पांच युवतियां थीं, जिनमें से चार भाग गई थीं। इनमें से तीन देहरादून और एक रुड़की की रहने वाली हैं। पुलिस ने युवतियों के घरों का पता कर स्वजन से भी संपर्क किया था। इस बीच पुलिस ने सभी चेक पोस्ट पर चेकिंग की और होटलों में भी संपर्क किया। शुक्रवार को रेसकोर्स स्थित एक होटल में युवतियों के ठहरे होने की सूचना मिली। जिस पर पुलिस ने युवतियों को पकड़ लिया।