उत्तराखंड: तीलू रौतेली पुरस्कार में अनदेखी ,मंत्री की बेटी और महिला भाजपा नेता का नाम भी सूची में शामिल

 


  वीरबाला तीलू रौतेली के नाम पर हर साल दिए जाने वाले राज्यस्तरीय तीलू रौतेेली पुरस्कार की इस बार रेवड़ी बंटी हैं। कैबिनेट मंत्री बिशन सिंह चुफाल की बेटी और भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश पदाधिकारी का नाम भी पुरस्कार की लिस्ट में शामिल है। इससे पुरस्कार के चयन को लेकर जिला एवं राज्य स्तरीय चयन समिति सवालों के घेरे में आ गई है। महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास विभाग की ओर से तीलू रौतेली पुरस्कार के लिए जिन 22 महिलाओं के नामों की सूची जारी की गई है, उनमें कैबिनेट मंत्री बिशन सिंह चुफाल की बेटी दीपिका चुफाल को सामाजिक एवं राजनैतिक क्षेत्र के लिए यह पुरस्कार दिया गया है। बताया गया है कि पिथौरागढ़ में उन्होंने इस विशेष क्षेत्र में काम किया है। जबकि सामाजिक एवं राजनैतिक क्षेत्र विशेष में कार्य के लिए देहरादून से अनुराधा वालिया का नाम लिस्ट में शामिल है। अनुराधा भाजपा महिला मोर्चा की वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष हैं।


बेटी पलायन रोकने में दे रही योगदान : चुफाल

 
कैबिनेट मंत्री बिशन सिंह चुफाल के मुताबिक उनकी बेटी क्षेत्र में जैविक मसालों का उत्पादन कर रही है। जंगली जानवर फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। ऐसे में उनकी बेटी ने पलायन रोकने के लिए इस दिशा में काम किया है। उसने कई युवाओं को इस काम से जोड़ा है।

मैंने कोविड काल में कई लोगों की मदद की : वालिया

 
भाजपा महिला मोर्चा की वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष अनुराधा वालिया का कहना है कि उन्होंने कोविड काल में कई लोगों की मदद की है। कोविड काल में पार्टी का आदेश था कि लोगों की मदद करनी है, इसके अलावा वह एनजीओ से भी जुड़ी हैं। उन्होंने कई लोगों के लिए भोजन एवं मास्क की व्यवस्था की। अनुराधा ने बताया कि वह भाजपा में दो बार प्रदेश महामंत्री रह चुकी हैं।