सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत के ड्रीम प्रोजेक्ट में वित्तीय गड़बड़ी का खुलासा

  उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के ड्रीम प्रोजेक्ट में शुमार ‘सूर्यधार झील’ में वित्तीय गड़बड़ी की पुष्टि हुई है। इस पर सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने इस मामले के दोषियों पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। आपको बता दें कि दो साल पहले जांच शुरू हुई थी, जैसा कि मालूम हो कि  29 जून 2017 को तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सूर्यधार झील के निर्माण की घोषणा की थी। 22 दिसंबर 2017 को इसके लिए 50 करोड़ 24 लाख रुपये का बजट मंजूर करा गया था। इसके बाद 27 अगस्त 2020 को सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने सूर्यधार बैराज निर्माण स्थल का निरीक्षण किया तो उनका खामियां मिलीं। मौके पर खामियां सामने आने के बाद महाराज ने जांच के आदेश दे दिए थे। मामले की जांच को 16 फरवरी 2021 को तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया था। इस समिति ने 31 दिसंबर 2021 को शासन को रिपोर्ट सौंप दी। पर्यटन मंत्री महाराज को चार जनवरी 2022 को रिपोर्ट मिली तो उन्होंने कार्रवाई के निर्देश दे दिए। अब सिंचाई सचिव हरिचंद सेमवाल ने इस मामले में सिंचाई विभाग के एचओडी प्रमुख अभियंता इंजीनियर मुकेश मोहन को कार्रवाई करने के निर्देश

अन्न महोत्सव उत्सव की तरह मनाया जाएगा : पीएम करेंगे मुसहर, वनटंगिया, थारू जनजाति के लोगों से संवाद

 


  राशन की दुकानों पर 5 अगस्त को मनाए जाने वाले अन्न महोत्सव के लिए मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने निर्देश जारी करते हुए कहा कि इस दिन वास्तव में उत्सव नजर आना चाहिए। इसकी तैयारी के लिए उन्होंने अपर मुख्य सचिव गृह विभाग, डीजीपी तथा सभी जिलाधिकारियों को पत्र भेजा है।प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 5 अगस्त को प्रदेश में अन्न महोत्सव मनाया जाएगा। इस दिन प्रदेश भर में राशन की दुकानों पर पांच किलो प्रति यूनिट निशुल्क अनाज का वितरण होगा। मुख्य सचिव द्वारा जारी निर्देशों के मुताबिक सभी दुकानों पर नोडल अधिकारी दो दिन पहले ही पहुंचकर सारी व्यवस्था मुकम्मल करेंगे।दस जिलों में चयनित उचित दर दुकानों पर उपस्थित लाभार्थियों से प्रधानमंत्री संवाद करेंगे और इसमें मुसहर, वनटंगिया, थारू तथा वन सहरिया आदि जनजाति को प्राथमिकता दी जाएगी।दुकानों को फूलों से सजाया जाएगा साथ ही स्थानीय वाद्य, लोककला, नाटक तथा कवि सम्मेलन का आयोजन होगा। सभी सांसद, निगमों के अध्यक्ष के अलावा किसी समाजसेवी, शहीद के परिवार या अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी को भी बुलाया जाएगा।वाराणसी, गोरखपुर, मुरादाबाद, हमीरपुर, अयोध्या, बाराबंकी, शाहजहांपुर, कौशांबी, आगरा और बहराइच की चयनित राशन दुकानों पर ‘पीएम से वर्चुअल संवाद’कार्यक्रम होगा।


टिप्पणियाँ

Popular Post