सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

आयेंन्द्र शर्मा का सहसपुर सीट पर रहेगा दबदबा

 देहरादून: उत्तराखण्ड में चुनावी घमासान जोरों पर है । अभी भी दोनों पार्टियों भाजपा और कांग्रेस को सीटों के समीकरण बैठाने में पसीने छूट रहे है। जिनको टिकट मिल गया वो अपने-अपने क्षेत्र में आश्वस्त होकर वर्चुअल जनसंपर्क कर रहे हैं। बहरहाल इस बार सहसपुर विधान सभा में जोरदार टक्कर होने की संभावना है, जिसमें अबकी बार भाजपा के लिए सहसपुर सीट पर रिपीट करने के सपने को लेकर संशय बना हुआ है। इस सीट का इतिहास भी बेहद रोचक रहा है। आपकों बता दे कि यह सीट पहले चकराता विधानसभा के अर्न्तगत आती थी लेकिन परसीमन के बाद सहसपुर विधानसभा बनी। तकरीबन एक लाख सत्तर हज़ार से ज्यादा मतदाता वाली इस सीट पर घमासान होने के आसार हैं। गौरतलब है कि भाजपा के शासनकाल में कई ऐसे मुद्दे उठे जिसे लेकर सियासत उबाल पर रही थी, जिसके चलते भाजपा का ग्राफ नीचे आया है। जिसका असर इस बार के चुनाव में जरूर नज़र आयेगा। आपको बता दें इस सीट पर कांग्रेस का ही दबदबा रहा है। भले ही 3 बार भाजपा ने इस सीट पर जीत हासिल करी हो इसमें का्रग्रेस की गुटबाजी ने भाजपा को फायदा पहुंचाया था। इस बार फिर कांग्रेस ने आर्येन्द्र शर्मा पर अपना विश्वास जताया ह

ब्राह्मण सम्मेलन से उड़ी नींदें, रोकने को अपना रहे हैं हथकंडे: मायावती

 


 

बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने मंगलवार को कहा कि पार्टी के राज्य में चल रहे ब्राह्मण सम्मेलन से विपक्ष की नींद उड़ गई है और इसे रोकने के लिये तरह तरह से हथकंडे अपनाये जा रहे हैं ।बसपा प्रमुख ने मंगलवार को ट्वीट किया ''मेरे निर्देशन में, पार्टी महासचिव और राज्यसभा सदस्य सतीश चन्द्र मिश्र द्वारा उप्र में चलाई जा रही प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी ब्राह्मण सम्मेलन के नाम से चर्चा में है। संगोष्ठी  के प्रति उत्साहपूर्ण भागीदारी इस बात का प्रमाण है कि लोगों का बसपा में विश्वास है। इसके लिए सभी का दिल से आभार।'' मायावती ने अपने सिलसिलेवार ट्वीट में आगे लिखा ''अयोध्या से 23 जुलाई को श्री रामलला के दर्शन के साथ शुरू हुआ यह कारवां आम्बेडकरनगर और प्रयागराज जिलों से होता हुआ सफलतापूर्वक आगे बढ़ रहा है, जिससे विरोधी पार्टियों की नींद उड़ गई है। इसे रोकने के लिए अब ये पार्टियां किस्म-किस्म के हथकंडे अपना रही हैं, इनसे सावधान रहें।''

 

1. मेरे निर्देशन में पार्टी महासचिव व राज्यसभा सांसद श्री सतीश चन्द्र मिश्र द्वारा यूपी में चल रही प्रबुद्ध वर्ग संगोष्ठी, जोे ब्राह्मण सम्मेलन के नाम से काफी चर्चा में है, के प्रति उत्साहपूर्ण भागीदारी यह प्रमाण है कि इनका बीएसपी पर सजग विश्वास है, जिसके लिए सभी का दिल से आभार।
2. अयोध्या से 23 जुलाई को श्रीरामलला के दर्शन से शुरू हुआ यह कारवाँ अम्बेडकरनगर व प्रयागराज जिलों से होता हुआ लगातार सफलतापूर्वक आगे बढ़ता जा रहा है, जिससे विरोधी पार्टियों की नीन्द उड़ी है व इसे रोकने के लिए अब ये पार्टियाँ किस्म-किस्म के हथकण्डे अपना रही हैं इनसे सावधान रहें।

टिप्पणियाँ

Popular Post