उत्तराखंड: कैबिनेट का फैसला, प्रदेश में एक अगस्त से खुलेंगे कक्षा छह से 12वीं तक के सभी स्कूल

 


  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में आज मंगलवार को कैबिनेट बैठक संपन्न हुई। बैठक में शिक्षा, स्वास्थ्य, राजस्व, वित्त विभाग समेत विभिन्न विभागों के 11 प्रस्तावों पर चर्चा हुई। बैठक में फैसला लिया गया कि एक अगस्त से प्रदेश में कक्षा छह से 12वीं तक के सभी स्कूल खोले जाएंगे। वहीं, संघ लोक सेवा की प्रिमलरी परीक्षा पास करने वालों को मुख्य परीक्षा की तैयारी के लिए सरकार 50 हजार रुपए देगी।साथ ही राज्य लोक सेवा आयोग की प्रिमलरी परीक्षा पास करने वाले टॉप 100 बच्चों को भी सरकार 50 हजार रुपए देगी। कैबिनेट ने एनडीए, सीडीएस और ओटीएस परीक्षा पास करने के लिए 50 हजार की सहायता देने के प्रस्ताव पर भी मुहर लगाई।


ये फैसले भी हुए


- कोसानी को नगर पंचायत का दर्जा, आबादी और एरिया के मानकों में दी गई छूट।
- विभगों में एसीपी व अन्य वेतन विसंगति को लेकर पूर्व मुख्य सचिव इंदु कुमार पांडेय की अध्यक्षता में बनी कमेटी। पुलिस ग्रेड पे का ममला भी देखेगी कमेटी।
- रोडवेज कर्मचारियों के वेतन के लिए 51.24 करोड़ के प्रस्ताव पर लगी मुहर। कैबिनेट ने मुख्यमंत्री को अधिकृत किया।
- पर्यटन पैकेज पर कैबिनेट की लगी मुहर।


पिछली बैठक में हुए थे ये फैसले


- लोक सेवा आयोग और अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के माध्यम से होनी वालीं भर्तियों के लिए अधिकतम आयु सीमा पार कर चुके युवाओं को एक वर्ष की छूट।
- राष्ट्रीय खाद्य योजना के तहत दिव्यांगों को अंतोदय व प्राथमिक परिवार में शामिल करने का निर्णय लिया गया। जिन दिव्यांगों की मासिक आय चार हजार से कम है, उन्हें अंतोदय और 4 से अधिक व 15 हजार से कम आय वाले दिव्यांगों को प्राथमिक परिवार में शामिल कर योजना का लाभ दिया जाएगा।
- प्रदेश में देहरादून, हल्द्वानी व श्रीनगर मेडिकल कॉलेजों में प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर व असिस्टेंट प्रोफेसर के 501 पद सृजित करने का निर्णय लिया गया है। श्रीनगर में 122, देहरादून में 250 और हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में 129 पद होंगे। इसके अतिरिक्त श्रीनगर सुपर स्पेशलिटी के लिए 44 पदों की मंजूरी दी गई है।
- वन विकास निगम में स्केलर संवर्ग में दो वर्ष की दैनिक श्रम अवधि को वेतनमान व एसीपी में जोड़ने के लिए विभागीय मंत्री डॉ.हरक सिंह रावत की अध्यक्षता में उप समिति गठित की जाएगी। जिसमें वित्त और न्याय विभाग के अधिकारी भी शामिल होंगे।
- लखवाड़ व्यासी जल विद्युत परियोजना के लिए पूर्व में आवंटित राजकीय रेशम फार्म विकासनगर और रेशम फार्म अंबाड़ी की 14.50 एकड़ भूमि को निरस्त किया गया है। अब यह भूमि रेशम विभाग के पास रहेगी। पूर्व सरकार के समय रेशम विभाग की जमीन परियोजना के लिए आवंटित की गई थी।
- देहरादून महायोजना 2025 के जोनल प्लान में आवासीय भू उपयोग के तहत सरकारी भवनों के लिए भूमि पर छूट की व्यवस्था है। सरकार ने अब यह व्यवस्था सभी राष्ट्रीय दलों के कार्यालय बनाने के लिए भी लागू करने का निर्णय लिया है।

Comments