सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

सरकार से बातचीत के लिए संयुक्त किसान मोर्चा ने बनाई 5 लोगों की कमेटी, टिकैत बोले- हम कहीं नहीं जा रहे

  कृषि कानूनों के निरस्त होने के बाद आज संयुक्त किसान मोर्चा के अहम बैठक हुई। इस बैठक में आंदोलन संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। इसके साथ ही 5 लोगों की कमेटी बनाई गई है जो सरकार से एमएसपी और किसानों से केस वापसी जैसे मुद्दों पर बातचीत करेगी। अब संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक 7 दिसंबर को होगी। बैठक के बाद राकेश टिकैत ने बताया कि 5 लोगों की कमेटी बनाई है। यह कमेटी सरकार से सभी मामलों पर बातचीत करेगी। अगली मीटिंग संयुक्त किसान मोर्चा की यहीं पर 7 तारीख को 11-12 बजे होगी। इस 5 लोगों की कमेटी में युद्धवीर सिंह, शिवकुमार कक्का, बलबीर राजेवाल, अशोक धवाले और गुरनाम सिंह चढुनी के नाम पर सहमति बनी है। बताया जा रहा है कि यह संयुक्त किसान मोर्चा की यह हेड कमेटी होगी जो किसानों से जुड़े मुद्दे पर महत्वपूर्ण फैसले लेगी। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि अब तक सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर बातचीत के लिए किसानों को नहीं बुलाया गया है। लेकिन जब भी सरकार की ओर से किसानों को बातचीत के लिए बुलाया जाएगा, यह 5 लोग ही जाएंगे। राकेश टिकैत की ओर से फिर दोहराया गया कि आंदोलन फिलहाल खत्म नहीं होगा। उन

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को पब्लिक मीटिंग के दौरान को एक व्यक्ति ने थप्पड़ मारा

पेरिस / फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को दक्षिण-पूर्वी फ्रांस के एक छोटे शहर की यात्रा के दौरान मंगलवार को एक व्यक्ति ने थप्पड़ मार दिया। होटल और रेस्तरां में काम करने के लिए छात्रों को प्रशिक्षण देने वाले एक हाई स्कूल का दौरा करने के बाद फ्रांसीसी राष्ट्रपति को टैन-एल’हर्मिटेज शहर में अवरोधकों के पीछे उनकी प्रतीक्षा कर रहे लोगों का अभिवादन कर रहे थे। घटना के बारे में एक वीडियो में दिखाया गया है कि एक आदमी मैक्रों को थप्पड़ मार रहा है और उनके अंगरक्षक उसे पीछे धकेल रहे हैं और फ्रांसीसी नेता तुरंत वहां से निकल जाते हैं। मैक्रों के पीछे खड़े एक अंगरक्षक ने राष्ट्रपति के बचाव में हाथ उठाया, लेकिन उन्हें इस घटना को रोकने में एक सेकेंड की देर हो गई।उसके बाद अंगरक्षक ने राष्ट्रपति की रक्षा के लिए उन्हें चारों ओर से घेर लिया। फ्रांसीसी समाचार प्रसारक ‘बीएफएम टीवी’ ने कहा कि पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में लिया है। मैक्रों ने अभी इस घटना पर कोई टिप्पणी नहीं की है और अपना दौरा जारी रखा है। प्रधानमंत्री जीन कास्टेक्स ने नेशनल असेंबली में कहा, ‘‘देश के प्रमुख के जरिये लोकतंत्र को लक्षित किया गया है।’’ इसके बाद सभी सांसदों ने तालियां बजाई और समर्थन में खड़े हो गये। कास्टेक्स ने कहा कि लोकतंत्र में बहस, संवाद, विचारों के टकराव, वैध असहमति की अभिव्यक्ति के लिए स्थान है लेकिन इसमें किसी भी तरह की हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है। दक्षिणपंथी नेता मरीन ले पेन ने ‘‘देश के राष्ट्रपति को निशाना बनाने वाली आक्रामकता की ट्विटर पर कड़ी निंदा की। उन्होंने कहा कि मैकों उनके शीर्ष राजनीतिक विरोधी हैं लेकिन यह घटना बहुत ही निंदनीय है। सोशलिस्ट पार्टी के नेता और पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने ट्वीट किया कि हमला ‘‘हमारी संस्थाओं के खिलाफ एक असहनीय झटका है ... देश के प्रमुख के साथ सभी को एकजुटता दिखानी चाहिए।’’ देश में शारीरिक हमले, जान से मारने की धमकी और उत्पीड़न के शिकार लोगों में गांव के मेयर और सांसद भी शामिल रहे हैं।

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव