सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

सरकार से बातचीत के लिए संयुक्त किसान मोर्चा ने बनाई 5 लोगों की कमेटी, टिकैत बोले- हम कहीं नहीं जा रहे

  कृषि कानूनों के निरस्त होने के बाद आज संयुक्त किसान मोर्चा के अहम बैठक हुई। इस बैठक में आंदोलन संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। इसके साथ ही 5 लोगों की कमेटी बनाई गई है जो सरकार से एमएसपी और किसानों से केस वापसी जैसे मुद्दों पर बातचीत करेगी। अब संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक 7 दिसंबर को होगी। बैठक के बाद राकेश टिकैत ने बताया कि 5 लोगों की कमेटी बनाई है। यह कमेटी सरकार से सभी मामलों पर बातचीत करेगी। अगली मीटिंग संयुक्त किसान मोर्चा की यहीं पर 7 तारीख को 11-12 बजे होगी। इस 5 लोगों की कमेटी में युद्धवीर सिंह, शिवकुमार कक्का, बलबीर राजेवाल, अशोक धवाले और गुरनाम सिंह चढुनी के नाम पर सहमति बनी है। बताया जा रहा है कि यह संयुक्त किसान मोर्चा की यह हेड कमेटी होगी जो किसानों से जुड़े मुद्दे पर महत्वपूर्ण फैसले लेगी। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि अब तक सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर बातचीत के लिए किसानों को नहीं बुलाया गया है। लेकिन जब भी सरकार की ओर से किसानों को बातचीत के लिए बुलाया जाएगा, यह 5 लोग ही जाएंगे। राकेश टिकैत की ओर से फिर दोहराया गया कि आंदोलन फिलहाल खत्म नहीं होगा। उन

उत्तराखंड- एसओपी में फिर हुआ संशोधन,अब हफ्ते में तीन दिन सुबह आठ से शाम पांच बजे तक खुलेंगे बाजार

उत्तराखंड सरकार ने प्रदेश में कोविड कर्फ्यू के दौरान तीन दिन पूरी तरह से बाजार खोलने की अनुमति दे दी है। वहीं, अंतरराज्यीय सार्वजनिक वाहनों का संचालन अब 100 प्रतिशत सवारी के साथ हो सकेगा। मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने मंगलवार को संशोधित मानक प्रचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की। इसके मुताबिक प्रदेश में सभी व्यापारिक प्रतिष्ठान अब नौ जून (बुधवार), 11 जून (शुक्रवार) और 14 जून (सोमवार) को सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक खुलेंगे। जबकि सिनेमा हॉल, शॉपिंग माल, जिम, खेल, स्टेडियम, खेल मैदान, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थियेटर, ऑडिटोरियम व बार अभी बंद ही रहेंगे। प्रदेश सरकार ने यह संशोधन व्यापारियों के दबाव में किया है। रविवार को सरकार ने जो एसओपी जारी की थी, उसमें अब तक दो बार संशोधन हो चुका है। दोनों बार व्यापारियों की मांग पर बदलाव हुए हैं। सूत्रों के मुताबिक, व्यापारियों के दबाव में कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने मुख्यमंत्री से शाम पांच बजे तक पूरे प्रदेश में बाजार खोलने की मांग की थी। एसओपी के बाकी प्रावधान यथावत रखे गए हैं। पूरी सवारी के साथ सार्वजनिक वाहनों का संचालन कोविड कर्फ्यू के दौरान अंतरराज्यीय सार्वजनिक वाहनों का संचालन अब 100 प्रतिशत सवारी के साथ हो सकेगा। परिवहन विभाग इसके लिए अलग से एसओपी जारी करेगा। बता दें कि सोमवार को विभाग ने 75 प्रतिशत सवारी के साथ सार्वजनिक वाहनों के संचालन की एसओपी जारी की थी। ये व्यवस्था पहले की तरह रहेगी लागू 1. पर्वतीय जिलों में जाने के लिए आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट जरूरी। 2. विवाह समारोह में 20 सदस्य, आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट जरूरी। 3. राज्य के बाहर से उत्तराखंड आने वाले के लिए 72 घंटे की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट जरूरी। 4. गढ़वाल और कुमाऊं के बीच यात्रा के लिए आरटीपीसीआर की जरूरत नहीं, ऑनलाइन पंजीकरण जरूरी। महाविद्यालयों में एक हफ्ते बढ़ सकती हैं गर्मियों की छुट्टियां प्रदेश में कोविड की वजह से समस्त सरकारी महाविद्यालयों में गर्मियों की छुट्टियां एक सप्ताह और बढ़ सकती हैं। उच्च शिक्षा निदेशालय ने शासन को इसका प्रस्ताव भेज दिया है। प्रस्ताव में कहा गया है कि इन छुट्टियों को 19 जून तक बढ़ाया जाए। प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा डॉ.आनंद वर्धन ने कहा कि शासन को प्रस्ताव मिल गया है, इस पर विचार किया जा रहा है, हो सकता है छुट्टियों को बढ़ा दिया जाए। प्रदेश के 106 महाविद्यालयों में गर्मियों की छुट्टियां चल रही हैं। उच्च शिक्षा निदेशक डॉ.कुमकुम रौतेला के मुताबिक 12 जून को महाविद्यालय खुलने थे, लेकिन कोविड के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए इन छुट्टियों को बढ़ाने के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। शासन की ओर से इस प्रस्ताव पर निर्णय लिया जाना है। प्रस्ताव में कहा गया है कि छुट्टियों को 19 जून तक के लिए विस्तारित किया जाए। विभागीय अधिकारियों ने कहा कि उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डॉ.धन सिंह रावत ने भी इस मसले पर अधिकारियों को कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। उधर प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा का कहना है कि उन्हें आज ही इसका प्रस्ताव मिला है। जल्द ही इस पर निर्णय ले लिया जाएगा। Sources:AmarUjala

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव