सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

सरकार से बातचीत के लिए संयुक्त किसान मोर्चा ने बनाई 5 लोगों की कमेटी, टिकैत बोले- हम कहीं नहीं जा रहे

  कृषि कानूनों के निरस्त होने के बाद आज संयुक्त किसान मोर्चा के अहम बैठक हुई। इस बैठक में आंदोलन संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। इसके साथ ही 5 लोगों की कमेटी बनाई गई है जो सरकार से एमएसपी और किसानों से केस वापसी जैसे मुद्दों पर बातचीत करेगी। अब संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक 7 दिसंबर को होगी। बैठक के बाद राकेश टिकैत ने बताया कि 5 लोगों की कमेटी बनाई है। यह कमेटी सरकार से सभी मामलों पर बातचीत करेगी। अगली मीटिंग संयुक्त किसान मोर्चा की यहीं पर 7 तारीख को 11-12 बजे होगी। इस 5 लोगों की कमेटी में युद्धवीर सिंह, शिवकुमार कक्का, बलबीर राजेवाल, अशोक धवाले और गुरनाम सिंह चढुनी के नाम पर सहमति बनी है। बताया जा रहा है कि यह संयुक्त किसान मोर्चा की यह हेड कमेटी होगी जो किसानों से जुड़े मुद्दे पर महत्वपूर्ण फैसले लेगी। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि अब तक सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर बातचीत के लिए किसानों को नहीं बुलाया गया है। लेकिन जब भी सरकार की ओर से किसानों को बातचीत के लिए बुलाया जाएगा, यह 5 लोग ही जाएंगे। राकेश टिकैत की ओर से फिर दोहराया गया कि आंदोलन फिलहाल खत्म नहीं होगा। उन

अनूप चंद्र पाण्डेय ने संभाला देश के नए निर्वाचन आयुक्त का कार्यभार,यूपी के पूर्व मुख्य सचिव रह चुके हैं अनूप चंद्र पाण्डेय

नई दिल्ली / राजधानी दिल्ली में बुधवार को उत्तर प्रदेश कैडर के आईएएस अधिकारी (रिटायर्ड) अनूप चंद्र पाण्डेय ने चुनाव आयुक्त का कार्यभार संभाला लिया है। बीते दिन मंगलवार को ही महामहिम राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने पाण्डेय के नाम पर मुहर लगाते हुए आदेश जारी किए हैं। बता दें कि अनूप चंद्र पाण्डेय को 37 वर्ष की भारतीय प्रशासनिक सेवा का अनुभव है। उत्तर प्रदेश में अगस्त 2019 तक मुख्य सचिव के पद पर आसीन रहे अनूप चंद्र पाण्डेय फिलहाल एनजीटी में यूपीनिगरानी समिति के मौजूदा सदस्य भी हैं। वह 2018 में उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव बने थे। इससे पहले वह औद्योगिक उत्पादन आयुक्त, प्रमुख सचिव वित्त तथा अन्य बड़े पद पर रहे।अनूप चंद्र पाण्डेय का जन्म 15 फरवरी 1959 को पंजाब के चंडीगढ़ में इनका जन्म हुआ था। उन्होंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बैचलर की डिग्री हासिल की है। इसके अलावा मैटेरियल मैनेजमेंट में एमबीए की उपाधि भी प्राप्त की है। कानून मंत्रालय में विधायी विभाग ने कहा कि राष्ट्रपति ने 1984 बैच के सेवानिवृत्त भारतीय प्रशासनिक सेवा (आइएएस) के अधिकारी पाण्डेय को उनके पदभार ग्रहण करने की तारीख से चुनाव आयुक्त के रूप में नियुक्त करने का आदेश दिया है।पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा के पद छोड़ के बाद तीन सदस्यीय पैनल में एक जगह जगह खाली थी। अरोड़ा ने 12 अप्रैल को मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) का पद छोड़ा था। वर्तमान में सुशील चंद्रा मुख्य चुनाव आयुक्त हैं, जबकि राजीव कुमार एक अन्य चुनाव आयुक्त हैं। योग्य और कर्मठ प्रशासनिक अधिकारी की छवि वाले अनूप चंद्र पाण्डेय लम्बे समय तक केंद्र सरकार की सेवा में भी रहे हैं। यूपी कैडर के 1984 बैच के आइएएस अधिकारी रहे अनूप चंद्र पाण्डेय चुनाव आयुक्त की चुनाव आयुक्त के रूप में नियुक्त की बाद अब चुनाव में आयोग में मुख्य चुनाव आयुक्त समेत तीन आयुक्त हैं। Sources:एएनआइ

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव