सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

सरकार से बातचीत के लिए संयुक्त किसान मोर्चा ने बनाई 5 लोगों की कमेटी, टिकैत बोले- हम कहीं नहीं जा रहे

  कृषि कानूनों के निरस्त होने के बाद आज संयुक्त किसान मोर्चा के अहम बैठक हुई। इस बैठक में आंदोलन संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। इसके साथ ही 5 लोगों की कमेटी बनाई गई है जो सरकार से एमएसपी और किसानों से केस वापसी जैसे मुद्दों पर बातचीत करेगी। अब संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक 7 दिसंबर को होगी। बैठक के बाद राकेश टिकैत ने बताया कि 5 लोगों की कमेटी बनाई है। यह कमेटी सरकार से सभी मामलों पर बातचीत करेगी। अगली मीटिंग संयुक्त किसान मोर्चा की यहीं पर 7 तारीख को 11-12 बजे होगी। इस 5 लोगों की कमेटी में युद्धवीर सिंह, शिवकुमार कक्का, बलबीर राजेवाल, अशोक धवाले और गुरनाम सिंह चढुनी के नाम पर सहमति बनी है। बताया जा रहा है कि यह संयुक्त किसान मोर्चा की यह हेड कमेटी होगी जो किसानों से जुड़े मुद्दे पर महत्वपूर्ण फैसले लेगी। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि अब तक सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर बातचीत के लिए किसानों को नहीं बुलाया गया है। लेकिन जब भी सरकार की ओर से किसानों को बातचीत के लिए बुलाया जाएगा, यह 5 लोग ही जाएंगे। राकेश टिकैत की ओर से फिर दोहराया गया कि आंदोलन फिलहाल खत्म नहीं होगा। उन

नोएडा: 40 दिन बाद आज से शुरू हुई एक्वा लाइन, जानें किन नियमों का करना होगा पालन

कोरोना वायरस की दूसरी लहर के कारण बंद हुई नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो (एक्वा लाइन) की सेवाएं आज से एक बार फिर शुरू हो गई हैं। नोएडा मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (एनएमआरसी) के अधिकारियों ने कहा कि मेट्रो आज सुबह 7 से रात 8 बजे तक दौड़ेगी। मेट्रो सेवा लगभग 40 दिनों बाद शुरू हुई हैं। हालांकि यात्रियों को वीकेंड के दौरान मेट्रो सेवा नहीं मिलेगी। मेट्रो सेवा को अनलॉक प्रक्रिया के तहत दोबारा शुरू किया गया है। इससे पहले दिल्ली मेट्रो ने सोमवार को ट्रेनों का परिचालन फिर से शुरू किया था। एनएमआरसी की प्रबंध निदेशक ऋतु माहेश्वरी ने सोमवार को कहा, 'आंशिक कोविड कर्फ्यू के कारण एनएमआरसी नेटवर्क पर मेट्रो सेवाओं को 1 मई से निलंबित कर दिया गया था।' उन्होंने कहा था, 'गौतमबुद्ध नगर में कोरोना कर्फ्यू में ढील दी गई है, 'ऐसे में मेट्रो ट्रेन सेवाएं 9 जून से शुरू हो जाएंगी।' यात्रियों को सफर के दौरान कोविड-19 नियमों का पालन करना होगा। यात्रियों को पीक ऑवर में सुबह 8 से 11 बजे और शाम 5 से 8 तक हर 15 मिनट पर एक मेट्रो मिलेगी जबकि ऑफ पीक ऑवर के दौरान हर 30 मिनट पर मेट्रो मिलेगी। एनएमआरसी के अधिकारियों ने मेट्रो परिसर में सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनने जैसे कोविड-19 सुरक्षा मानदंडों का पालन सुनिश्चित करने के लिए स्टेशनों और ट्रेनों में आवश्यक व्यवस्था की है। आज से शुरू होने वाली सेवा के बारे में जानें सबकुछ यात्रियों के तापमान की जांच करने और यह सुनिश्चित करने के लिए कि वे मास्क पहनने और सौशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने जैसे कोविड दिशानिर्देशों का पालन कर रहे है, इसके लिए हर स्टेशन पर पैसेंजर स्क्रीनिंग टीमों को तैनात किया गया है। केवल सेक्टर 51 स्टेशन पर पार्किंग की सुविधा उपलब्ध होगी। वीकेंड यानी शनिवार और रविवार को ट्रेनें नहीं चलेंगी। एनएमआरसी परिसर और ट्रेनों के अंदर सोशल डिस्टेंसिंग के मानदंडों का सख्ती से पालन किया जाएगा। एनएमआरसी ने पीक और नॉन-पीक आवर्स के दौरान ट्रेनों की फ्रीक्वेंसी में भी बदलाव किया है। पीक ऑवर के दौरान (सुबह 8 बजे से 11 बजे तक और शाम को 5 से रात 8 बजे तक) 15 मिनट के अंतराल पर ट्रेनें मिलेंगी जबकि नॉन पीक ऑवर्स के दौरान 30 मिनट के अंतराल पर मेट्रो मिलेगी। इससे पहले, ट्रेन सेवाएं सुबह 6 बजे से रात 10 बजे तक उपलब्ध थीं। नोएडा-ग्रेटर नोएडा लाइन, जिसे एक्वा लाइन के नाम से भी जाना जाता है, में भी 'फास्ट ट्रेनें' होंगी जो पीक आवर्स के दौरान वीकडेज में चलेंगी। फास्ट ट्रेनें सेक्टर 50, 101, 81, 83, 143, 144, 145, 146, 147 और 148 स्टेशनों पर नहीं रुकेंगी। एक्वा लाइन पर 21 स्टेशनों में से, पीक आवर्स के दौरान ट्रेनें कुल 10 स्टेशनों पर नहीं चलेंगी, ये स्टेशन वो हैं जिनमें आमतौर पर कम सवारियां होती हैं। इस कदम का मकसद नोएडा और ग्रेटर नोएडा के बीच यात्रा के समय को नौ मिनट कम करना है। Sources:Hindustan samachar

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव