सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

देवस्थानम बोर्ड को निरस्त करने की घोषणा का स्वागत

  उत्तराखंड सरकार ने आज देवस्थानम बोर्ड को निरस्त करने का  ऐतिहासिक फैसला लिया है । ब्राह्मण समाज महासंघ उत्तराखंड इस निर्णय का स्वागत करता है।करीब 2 वर्ष पहले जब यह नया कानून उत्तराखंड राज्य की देवभूमि में बना तभी से ब्राह्मण समाज महासंघ लगातार इसका विरोध करता आया है । मुख्यमंत्री व मुख्य सचिव को ज्ञापन देकर व सड़क पर आकर तीर्थ पुरोहित समाज के लिए उनकी रक्षा के लिए  ब्राह्मण समाज महासंघ सदैव इस कार्य में अग्रणी रहा है।गत 5 सितंबर को  देवभूमि की राजधानी देहरादून में गांधी पार्क पर ब्राह्मण समाज महासंघ ने एक विरोध प्रदर्शन तीर्थ पुरोहित जनेऊ  खंडित करने व देवस्थानम बोर्ड को भंग करने के लिए किया था। आज सरकार के इस निर्णय से देवभूमि के पुरोहित व पंडा समाज के सम्मान की रक्षा हुई है ।हम आशा करेंगे कि देवभूमि की सरकारें तीर्थ पुरोहित समाज, ब्राह्मण समाज का सम्मान व उनकी भावनाओं की रक्षा करते हुए इसी तरह से भविष्य में भी कार्य करेंगे।महासंघ के संरक्षक श्री लालचन्द शर्मा जी ने श्री राम परशुराम मन्दिर में चतुर्वेद विधालय में शिक्षा ग्रहण कर रहे सनातन धर्म के धर्म रक्षको व ब्राह्मण समाज महासंघ क

कांग्रेस के दिग्गज नेता जितिन प्रसाद भगवा रंग में रंगे, थामा भाजपा का दामन

ज्योतिरादित्य सिंधिया के बाद कांग्रेस को एक बार फिर से बड़ा झटका लगा है। उत्तर प्रदेश के दिग्गज नेता और राहुल गांधी की टीम के बेहद ही अहम सदस्य जितिन प्रसाद ने भाजपा का दामन थाम लिया है। भाजपा में शामिल होने से पहले पूर्व सांसद जितिन प्रसाद ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। जितिन प्रसाद उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के बड़े ब्राह्मण चेहरों में से एक थे। ANI @ANI Delhi: Congress leader Jitin Prasada joins BJP in the presence of Union Miniter Piyush Goyal, at the party headquarters.
मनमोहन सिंह की सरकार में जितिन प्रसाद केंद्रीय राज्य मंत्री थे। उन्होंने शिक्षा मंत्रालय, सड़क परिवहन मंत्रालय और पेट्रोलियम मंत्रालय में अहम जिम्मेदारी संभाली है। जितिन प्रसाद कांग्रेस के उन वरिष्ठ नेताओं में शामिल थे जिन्होंने नेतृत्व में बदलाव के लिए आवाज़ उठाएं थे। यूपी में जितिन प्रसाद को लेकर कुछ कांग्रेस नेताओं ने विरोध भी किया था।

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव

चित्र

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश