सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

मार्च से लगेगी 12 से 14 साल तक के बच्चों को वैक्सीन

जैसा की मालूम है कि देश में कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ टीकाकरण अभियान बहुत तेजी से चल रहा है। इसी कड़ी में 3 जनवरी से सरकार ने 15 से 18 साल के बच्चों के लिए टीकाकरण शुरू किया था। इसके अलावा 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए बूस्टर डोज की भी शुरुआत हो चुकी है।]  इन सबके बीच बच्चों के वैक्सीनेशन को लेकर अच्छा समाचार आ रहा है। आपको बता दें देश में मार्च महीने से 12 से 14 साल तक के बच्चों का कोरोना वैक्सीनेशन लगना शुरू हो जाएगा। इस बात की जानकारी टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह के प्रमुख एनके अरोड़ा ने दी। आपको बता दें कि देश में राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक कोविड.19 रोधी टीकों की 157.20 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ मनसुख मांडविया ने ट्वीट कर बताया कि 3 जनवरी से अब तक 15.18 आयु वर्ग के 3.5 करोड़ से अधिक बच्चों को कोविड-19 वैक्सीन की पहली डोज़ लगा दी गई है।  वहीं देश में टीकाकरण अभियान का एक वर्ष पूरा होने के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इसने वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई को बेहद मजबूत बनाया और इसके चलते ही लो

मैंगोमैन पद्मश्री कलीमुल्लाह की नई वैराइटी डॉक्टर आम, करी कोरोना वॉरियर्स को समर्पित

लखनऊ / पीएम नरेंद्र मोदी के साथ ही नामचीन नेताओं, अभिनेता व अभिनेत्रियों को आम की नई वैराइटी समर्पित करने वाले मैंगो मैन कलीमुल्लाह ने अब नई वैराइटी कोरोना वॉरियर्स को समर्पित की है। लखनऊ के मलिहाबाद को दशहरी बेल्ट के नाम भी जाना जाता है, यहीं के हाजी कलीमुल्लाह हर वर्ष आम की नई वैराइटी को नया नाम देकर भी विख्यात हो जाते हैं।मलिहाबाद में आम के पांच एकड़ के बाग में दशहरी के साथ ही अन्य कई किस्म के आम की पौध लगाने वाले मैंगो मैन हाजी कलीमुल्लाह ने इस बार नई आम की किस्म को कोरोना वॉरियर्स के नाम समर्पित किया है। पद्मश्री हाजी कलीमुल्लाह ने कोरोना योद्धाओं के लिए डॉक्टर आम की नई प्रजाति तैयार की है। उनका मानना है कि कोरोना तो खत्म हो जाएगा, लेकिन इस जंग के हीरो डॉक्टर्स वे मेडिकल स्टाफ इस उम्दा आम के माध्यम से लम्बे समय तक याद किए जायेंगे।मैंगो मैन पद्मश्री हाजी कलीमुल्लाह खां ने करीब दो वर्ष से पैठ बनाने वाली कोरोना महामारी काल में अपने बाग में दशहरी आम की एक नई प्रजाति को तैयार किया है। उन्होंने अपनी इस नई प्रजाति को कोरोना महामारी से जंग में मरीजों की जान बचाने में जुटे वार्रिरोस डॉक्टर्स व मेडिकल स्टाफ को समर्पित किया है। उन्होंने इस प्रजाति का नाम 'डॉक्टर आम' रखा है। उनके बाग में कोरोना वारियर्स को समर्पित 'डॉक्टर आम' की नई प्रजाति लगी हुई है। मैंगो मैन हाजी कलीमुल्लाह ने बताया कि इस महामारी के वक्त डॉक्टर्स जो कुर्बानी दे रहे हैं, उन्हें इस आम की मदद से हमेशा याद रखा जाएगा। बाग में तैयार हो रहा डॉक्टर आम जब सबके सामने आयेगा तो लोग उन डॉक्टरों को याद करेंगे जिन्होंने अपने जान की बाजी लगाकर लोगों को बचाया।काम निश्चित ही काबिले तरीफ: उन्होंने कहा कि भले ही विश्व में करोड़ों लोग हैं, लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण के काल में डॉक्टर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, नर्सिंग स्टाफ और अन्य मेडिकल कर्मियों ने जो काम किया है, वह निश्चित ही काबिले तरीफ है। इस कारण अगर उनके नाम पर कोई चीज समर्पित की जाती है, तो उनका कोई भी मूल्य नहीं होता है। इन सभी का काम बहुमूल्य है। उनका यह काम निश्चित रूप से बड़ी संख्या में लोगों के लिए बड़ी प्रेरणा काम करेगा। इसी कारण हमने डॉक्टर मैंगो भी पेश किया है। लखनऊ की विश्व विख्यात मैंगो बेल्ट मलिहाबाद के हाजी कलीमुल्लाह अपने बाग के एक ही पेड़ में 300 से ज्यादा आम की प्रजाति तैयार कर देश विदेश में सूबे का जाम रोशन कर चुके हैं। पद्मश्री हाजी कलीमुल्लाह ने इससे पहले राजनीतिज्ञों व बॉलीवुड और क्रिकेट सेलेब्रिटी के नाम पर भी आम की वैरायटी तैयार की है। हाजी कलीमुल्लाह के आम के बाग लखनऊ के मलिहाबाद में हैं। यहां के दशहरी आम काफी विख्यात है। विदेश में भी इसकी बड़ी मांग है। यहां पर कलीमुल्लाह 1957 से आम की खेती कर रहे हैं। उनका आम का बाग पांच एकड़ में फैला है और यहां पर वह विभिन्न प्रजातियों के आम का उत्पादन करते हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने उनको उद्यान पंडित की उपाधि से भी नवाजा है।हाजी कलीमुल्लाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही गृह मंत्री अमित शाह, सीएम योगी आदित्यनाथ, पूर्व सीएम अखिलेश यादव, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अबुल कलाम, महानायक अमिताभ बच्चन, ऐश्वर्या रायऔर मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के नाम पर भी आम की प्रजाति तैयार की है। उन्होंने कहा कि हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाकई में बहुत महान हैं। वह काफी मेहनती हैं और उनकी शोहरत विश्व में काफी है। उनके शपथ ग्रहण समारोह में अनेक देश के नेता आए थे। भारत ने उनके नेतृत्व में नया आयाम पाया है और देश को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अलग पहचान मिली है। उन्होंने कहा कि इसी तरह से हमारे प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक दिन में 18-18 घंटा काम करने उत्तर प्रदेश को काफी बेहतर किया है। हाजी कलीमुल्लाह ने कहा कि कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव भी काफी बड़े नेता है। अखिलेश यादव ने काफी कम उम्र में बड़ा नाम कमाया है। Sources: जेएनएन

टिप्पणियाँ

Popular Post