सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत के ड्रीम प्रोजेक्ट में वित्तीय गड़बड़ी का खुलासा

  उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के ड्रीम प्रोजेक्ट में शुमार ‘सूर्यधार झील’ में वित्तीय गड़बड़ी की पुष्टि हुई है। इस पर सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने इस मामले के दोषियों पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। आपको बता दें कि दो साल पहले जांच शुरू हुई थी, जैसा कि मालूम हो कि  29 जून 2017 को तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सूर्यधार झील के निर्माण की घोषणा की थी। 22 दिसंबर 2017 को इसके लिए 50 करोड़ 24 लाख रुपये का बजट मंजूर करा गया था। इसके बाद 27 अगस्त 2020 को सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने सूर्यधार बैराज निर्माण स्थल का निरीक्षण किया तो उनका खामियां मिलीं। मौके पर खामियां सामने आने के बाद महाराज ने जांच के आदेश दे दिए थे। मामले की जांच को 16 फरवरी 2021 को तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया था। इस समिति ने 31 दिसंबर 2021 को शासन को रिपोर्ट सौंप दी। पर्यटन मंत्री महाराज को चार जनवरी 2022 को रिपोर्ट मिली तो उन्होंने कार्रवाई के निर्देश दे दिए। अब सिंचाई सचिव हरिचंद सेमवाल ने इस मामले में सिंचाई विभाग के एचओडी प्रमुख अभियंता इंजीनियर मुकेश मोहन को कार्रवाई करने के निर्देश

रौद्र रूप ले सकता है तूफान ‘यास’,तैनात की गई एन.डी.आर.एफ की 99 टीमें

नई दिल्ली / टाक्टे के बाद एक और चक्रवाती तूफान यास को लेकर उन इलाकों में तैयारियां तेज कर दी गई हैं जहां इसके आने की प्रबल संभावना है। NDRF अपनी 99 टीमों के साथ ओडिशा, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु व अंडमान व निकोबार द्वीप समूह में मोर्चे पर तैनात है। यह जानकारी NDRF के डायरेक्टर जनरल एसएन प्रधान ने सोमवार को दी। केवल ओडिशा में NDRF की 18 टीमें तैनात है। बालासोर में 7 टीमें , भद्रक में 4 , केंद्रपाड़ा में 3, जाजपुर में 2, जगतसिंहपुर व मयूरभंज में एक-एक तैनात की गई। रिजर्व में चार टीमें रखी गई हैं। इस क्रम में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ओडिशा, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्रियों और अंडमान-निकोबार द्वीप समूह के उपराज्यपाल के साथ बैठक की और चक्रवात यास के लिए की गई तैयारियों की समीक्षा की। भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ( National President JP Nadda) भी आज बैठक के जरिए तैयारियों की समीक्षा बैठक करने का फैसला किया है। इन इलाकों में चक्रवात के कारण होगी भारी बारिश - पश्चिम बंगाल के मेदिनीपुर, दक्षिण 24 परगना व हावड़ा, हुगली उत्तर 24 परगना के कई इलाकों में 25 मई को बारिश का अनुमान जताया गया है। 26 को पुरुलिया, बांकुरा, बर्धमान, हावड़ा, हुगली, कोलकाता, उत्तर 24 परगना, बीरभूम व नादिया, मुर्शिदाबाद, दार्जिलिंग में भी भारी वर्षा होगी। - असम और मेघालय के अधिकांश जगहों पर बारिश की संभावना है और कई जगहों पर 26 व 27 मई को भारी बारिश हो सकती है। - 26 और 27 मई बिहार के अधिकांश जगहों में भारी बारिश हो सकती है और 28 मई को कुछ जगहों पर भीषण वर्षा का अनुमान है। - पश्चिम बंगाल के मालदा, दार्जिलिंग, दिनाजपुर, कालिमपोंग, जलपाइगुड़ी, सिक्किम मे भारी बारिश होगी वहीं बांकुरा, पुरुलिया, बर्धमान, बीरभूम व मुर्शिदाबाद के कई जगहों पर 27 मई को इस तूफान के कारण बारिश का अनुमान जताया गया है। Sources: एएनआइ

टिप्पणियाँ

Popular Post