संयुक्त किसान मोर्चा 26 मई को मनायेगा‘काला दिवस’ कांग्रेस-आप समेत 13 विपक्षी पार्टियों का मिला समर्थन

कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं के पास धरने पर बैठे किसानों के आंदोलन को छह महीने होने वाले हैं। विरोध प्रदर्शन के छह महीने पूरे होने पर संयुक्त किसान मोर्चा द्नारा 26 मई को देशभर में विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान किया गया है। वहीं कृषि कानूनों के खिलाफ धरने को एक बार फिर से विपक्षी दलों का समर्थन प्राप्त हुआ है। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी समेत 13 बड़ी विपक्षी पार्टियों ने संयुक्त किसान मोर्चा के 26 मई को देश भर में प्रदर्शन के फैसले का समर्थन किया है। विपक्षी पार्टियों ने एक संयुक्त बयान जारी करते हुए संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा होने वाले प्रदर्शन को समर्थन दिया है। इन 13 विपक्षी दलों ने किया समर्थन सोनिया गांधी (कांग्रेस), एचडी देवेगौड़ा (जद-एस), शरद पवार (एनसीपी), ममता बनर्जी (टीएमसी), उद्धव ठाकरे (शिव सेना), एमके स्टालिन (डीएमके), हेमंत सोरेन (झामुमो), फारूक अब्दुल्ला (JKPA), अखिलेश यादव (समाजवादी पार्टी), तेजस्वी यादव (RJD), डी राजा (सीपीआई), सीताराम येचुरी (CPI-M), आम आदमी पार्टी। ANI @ANI 12 opposition parties extend their support to Samyukta Kisan Morcha (SKM) call to observe a countrywide protest day on May 26 marking the completion of six months of farmers protest against new farm laws.
आम आदमी पार्टी की तरफ से राघव चड्डा ने बयान देते हुए कहा कि 26 मई को संयुक्त किसान मोर्चा ने देशभर में एक दिन का विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान किया है। आम आदमी पार्टी (आप) संयुक्त किसान मोर्चा का समर्थन करती है। आप किसानों के एक दिन के विरोध प्रदर्शन को समर्थन करेगी। ANI_HindiNews @AHindinews 26 मई को संयुक्त किसान मोर्चा ने देशभर में एक दिन का विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान किया है। आम आदमी पार्टी(AAP) संयुक्त किसान मोर्चा का समर्थन करती है। AAP किसानों के एक दिन के विरोध प्रदर्शन को समर्थन करेगी: राघव चड्डा, AAP