सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद सिंह रावत नहीं लड़ेंगे चुनाव

 देहरादून : बहुत बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है कि उत्‍तराखंड के पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत इस बार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। जानकारी के मुताबिक उन्‍होंने भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर यह इच्‍छा जाहिर की है। उन्‍होंने कहा कि धामी के नेतृत्‍व में भाजपा की सरकार बनाने के लिए काम करना चाहता हूं।  जेपी नडडा को लिखे पत्र में उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री के रूप में कार्य करने का अवसर देने के लिए आभार भी व्‍य‍क्‍त किया है। साथ ही ये भी कहा है कि प्रदेश में युवा नेतृत्‍व वाली सरकार अच्‍छा काम कर रही है। उन्‍होंने कहा, बदली हुई राजनीतिक परिस्थितियों में मुझे चुनाव नहीं लड़ना चाहिए। इसलिए मेरा अनुरोध स्‍वीकार कर लिया जाए। आपको बता दें कि त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पत्र में लिखा कि मान्‍यवार पार्टी ने मुझे देवभूमि उत्‍तराखंड के मुख्‍यमंत्री के रूप में सेवा करने का अवसर दिया यह मेरा परम सौभाग्‍य था। मैंने भी कोशिश की कि पवित्रता के साथ राज्‍य वासियों की एकभाव से सेवा करुं व पार्टी के संतुलित विकास की अवधारणा को पुष्‍ट करूं। प्रधानमंत्री जी का भरपूर सहयोग व आशीर्वाद मु

मसूरी: एमपीजी कालेज छात्रावास पर अवैध कब्जे का जोरदार विरोध

 

 



एमपीजी कालेज मसूरी के हास्टल पर कुछ शरारती तत्वों ने कब्जा कर भवन को तोड़ दिया जिसके विरोध में एमपीजी कालेज पूर्व अध्यक्ष महासंघ ने इसका विरोध किया है तथा इस घटना की निंदा की है व कहा है कि किसी भी हालत में कालेज हास्टल की भूमि को खुर्द बुर्द नहीं करने दिया जायेगा।

एमपीजी कालेज मसूरी के छात्रावास की एक मंजिल पर कुछ लोगों ने कब्जा कर उसे तोड़ दिया जिसका विरोध किया जा रहा है। एमपीजी कालेज के प्रधानाचार्य डा. सुनील पंवार ने कहा कि जब उन्हें पता चला तो उन्होंने भी विरोध किया जिस पर वहां आये युवकों ने कहा कि अध्यक्ष जी ने दिया है उनसे बात करे।

प्रधानाचार्य डा. पंवार ने बताया कि यह भवन एमपीजी कालेज के द्वारा संचालित किए जाने वाले होटल प्रंबंधन कोर्स के लिए तैयार किया गया था व उसके हिसाब से ही उसे बनाया गया था लेकिन इन युवाओं ने पूरे कमरे को तोड़ दिया व अपने हिसाब से इसे बना रहे हैं। उन्होंने पहले भी नगर पालिकाध्यक्ष जो कालेज प्रबंध समिति के अध्यक्ष भी है उन्हें अवगत कराया था जिस पर उन्होंने कहा था कि कोई बात नही बाद में देख लेगे।

वहीं उन्हांेने कहा कि इस घटना की रिपोर्ट पालिकाध्यक्ष को दी जायेगी। इस मामले में भाजपा मसूरी मंडल अध्यक्ष मोहन पेटवाल ने कहा कि कालेज की संपत्ति किसी बाहरी व्यक्ति को नहीं दी जानी चाहिए वह छात्र हित में भी उपयोग होनी चाहिए अगर ऐसा हो रहा है तो यह निंदनीय है। इस संबंध में एमपीजी कालेज के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष रजत अग्रवाल ने कहा कि यह घटना शहर पर कलंक है कि पालिकाध्यक्ष खुद अपने महाविद्यालय की भूमि को खुर्द बुर्द करने पर लगे है इसे कतई बर्दास्त नहीं किया जायेगा। उन्हांेने यह भी कहा कि एमपीजी कालेज पूर्व अध्यक्ष महासंघ इस मामले को आगे बढायेगा व कालेज की भूमि को खुर्द बुर्द करने से रोकेगा।

पूर्व छात्र ंसंघ अध्यक्ष मेघ सिह कंडारी ने भी इस घटना का विरोध किया व कहा कि यह गुडगर्दी है कालेज छात्रावास की संपत्ति पर कैसे कोई कार्य बिना अनुमति के करवा रहा था इस पर प्रधानाचार्य को एक्शन लेना चाहिए अगर किसी को दिया भी है तो उसके पूरे तथ्य सामने लाये जाने चाहिए। छात्रावास की संपत्ति का उपयोग केवल छात्रहित में होना चाहिए अगर कोई कब्जा करेगा तो विरोध किया जायेगा।

कालेज छात्रावास पर कब्जे के विरोध में एबीवीपी ने भी आयुक्त गढवाल एवं जिलाधिकारी देहरादून को ज्ञापन दिया है जिसमें कहा गया है कि कालेज छात्रावास की सपत्ति पालिकाध्यक्ष अपने चहेतों को दे रहे है जब कि वहां पर होटल प्रबध्ंान का व्यावसायिेक कोर्स शुरू होना था एबीपीवी कब्जे के विरोध में आंदोलन करेगी। वहीं इस संबंध में पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने कहा कि यह मामला उनके संज्ञान में नहीं है अगर वहां पर ऐसा किया गया तो उनके खिलाफ जांच कर कार्रवाई की जायेगी। इसके लिए पालिका ईओं को निर्देशित किया गया है।

वहीं पालिका अधिशासी अधिकारी आशुतोष सती ने कहा कि वह मौके पर गये वहां कार्य चल रहा था जिसे तत्काल प्रभाव से रोकने को कहा गया है वहीं प्रधानाचार्य से भी इस मामले में जानकारी ली जायेगी कि यह काम किसके द्वारा किया जा रहा था। उन्होंने वहां मौजूद लोगों ने कहा कि जब तक पालिका से कोई आदेश न आये कोई कार्य न करें वहीं इसकी जांच की जायेगी उसके बाद भी आगे की कार्रवाई की जायेगी।

 

Sources: Khabar India

संवाददाता सतीश कुमार

टिप्पणियाँ

Popular Post