ब्लैक फंगस से एम्स ऋषिकेश में पांचवीं मौत,आ चुकेअब तक61मरीज

 


  ऋषिकेश / अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में ब्लैक फंगस संक्रमित मेरठ उत्तर प्रदेश निवासी 64 वर्षीय एक मरीज की शुक्रवार को मृत्यु हो गई। जबकि देर रात को देहरादून निवासी मरीज की भी मौत हो गई। एम्स में ऐसे पांच मरीजों की अब तक मौत हो चुकी है। एम्स ऋषिकेश में ब्लैक फंगस (म्यूकोर माइकोसिस) के कुल 61 मरीज आ चुके हैं।अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश से आने वाले ब्लैक फंगस संक्रमित मरीजों की संख्या प्रतिदिन बढ़ रही है। ब्लैक फंगस के उपचार के लिए गठित टीम के मुखिया व इएनटी सर्जन डॉ. अमित त्यागी ने बताया कि एम्स में आए अब तक कुल 61 मरीजों में तीन की मृत्यु पूर्व में हो चुकी है और ऋषिकेश निवासी 81 वर्षीय महिला मरीज को उपचार के डिस्चार्ज किया जा चुका है। शुक्रवार को उपचार के दौरान एक अन्य रोगी मेरठ निवासी 64 वर्षीय पुरुष की मृत्यु हो गई। वहीं, देर शाम म्यूकोर माइकोसिस से ग्रसित एक अन्य देहरादून निवासी 65 वर्षीय मरीज की मृत्यु हो गई। अब एम्स में म्यूकोर माइकोसिस के 56 रोगी भर्ती हैं।एम्स निदेशक प्रोफेसर रविकांत ने इस मामले में 15 चिकित्सकों की अलग से टीम गठित की है। वह प्रतिदिन टीम से अपडेट ले रहे हैं। अब तक यहां ब्लैक फंगस संक्रमित मरीजों के लिए दो वार्ड बनाए जा चुके हैं। जिसमें आइसीयू बेड की भी सुविधा उपलब्ध कराई गई है। भविष्य में यदि ऐसे  मरीजों की संख्या बढ़ती है तो एम्स प्रशासन वार्ड का भी विस्तार करेगा।

 

Sources:Agency News