कोरोना छिपाने वाले स्कूलों के खिलाफ दर्ज होंगे केस,कई छात्र हो चुके हैं संक्रमित

 


देहरादून जिले के कई आवासीय सरकारी एवं अशासकीय स्कूलों में कोरोना संक्रमण के मामले छुपाए जा रहे हैं। इस पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी जताते हुए मुख्य शिक्षा अधिकारी व पुलिस को ऐसे विद्यालयों के खिलाफ महामारी एक्ट में कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। इस निर्देश के बाद शनिवार को मुख्य शिक्षा अधिकारी आशा रानी पैन्यूली  ने सभी सरकारी एवं अशासकीय आवासीय विद्यालय के प्रबंधकों व प्रधानाचार्य को पत्र भेजकर अपने अपने स्कूल में कोरोना के सभी मामले तत्काल जिला प्रशासन को वह स्वास्थ्य विभाग को बताने के निर्देश दिए। साथ ही यह भी कहा है कि संक्रमण को लेकर विशेष सतर्कता बरती जाए । अपने पत्र में मुख्य शिक्षा अधिकारी ने भी इस बात पर नाराजगी जताई है कि विद्यालय कोरोना से जुड़ी सूचनाएं छिपा रहे हैं। उन्होंने स्कूलों को स्वास्थ्य विभाग को पूरा सहयोग करने के भी निर्देश दिए। साथ ही कहा कि जहां भी जरूरी हो बच्चों और शिक्षकों की तत्काल कोरोना जांच करवायी जाए। 

यूनिसन वर्ल्ड स्कूल को कंटेनमेंट जोन बनाया
मसूरी रोड स्थित यूनिसन वर्ल्ड स्कूल को कंटेनमेंट जोन बना दिया गया है। जिलाधिकारी डा. आशीष श्रीवास्तव ने इसके आदेश किए। अगले आदेशों तक स्कूल सील रहेगा। इसमें किसी को अंदर बाहर जाने की अनुमति  नहीं होगी। स्कूल में चारों और बैरिकेडिंग लगाकर बंद कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि वहां कोरोना के कई केस सामने आए हैं। जिसके बाद वहां कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। डीएम ने पुलिस को इस दौरान वहां पूरी तरह लॉकडाउन रखने के लिए सुरक्षा उपाय करने के भी आदेश दिए हैं। साथ ही आसपास की दुकानों व कार्यालय भी बंद रहेंगे। स्कूल में दैनिक आवश्यकता की वस्तुओं की सप्लाई जिला पूर्ति अधिकारी को करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही सहायक निदेशक डेयरी को वहां दूध विक्रय की व्यवस्था के निर्देश दिए गए हैं। कहा कि स्कूल में और किसी को भी सर्दी, खांसी, जुकाम हो तो सूचित करें। 

रायपुर कोविड केयर सेंटर में बढ़ेंगे ऑक्सीजन बेड 
कोरोना के केस बढ़ने पर अस्पतालों में बेड की कमी से मरीज हलकान है और तीमारदार इधर-उधर भटक रहे हैं। प्रशासन ने अब बेड की कमी से निपटने की तैयारी शुरू की है। रायपुर कोविड केयर सेंटर में 500 बेड को 1000 करने की कवायद शुरू की गई है। वहीं ऑक्सीजन बेड यहां पर बढ़ाए जाने के लिए कहा गया है।  डीएम डा. आशीष श्रीवास्तव ने अफसरों के साथ यहां पर शनिवार को दौरा कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। फिलहाल यहां पर करीब 80 मरीज भर्ती हैं। डीएम ने कहा कि 500 बेड और बढ़ाए जाएं। यहां पर अभी ऑक्सीजन बेड की संख्या 40 है। डीएम ने इन्हें भी बढ़ाने के लिए अफसरों को निर्देशित किया है।


Sources:hindustan