सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

अखिलेश यादव-राजभर की जोड़ी का ऐलान,बंगाल में खेला होबे के बाद अब यूपी में खदेड़ा होबे

      सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने अपनी पार्टी के 19वें स्थापना दिवस के अवसर पर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को अपने मंच पर बुलाकर आगामी विधानसभा चुनाव में छोटे बड़े दलों के गठबंधन को मंच मुहैया कराने की कोशिश की है। ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि वह भावी सीएम को आपने सामने लेकर आए हैं।  उन्होंने कहा कि वह समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। अखिलेश यादव के साथ रैली में ओपी राजभर ने कहा कि बंगाल में 'खेला होबे' हुआ था तो यूपी में 'खदेड़ा होबे'। राजभर ने कहा कि 2022 में अखिलेश यादव मुख्यमंत्री बनेंगे। सरकार बनी तो घरेलू बिजली का बिल 5 साल तक माफ किया जाएगा। अखिलेश यादव ने कहा कि सपना दिखाया की चप्पल पहनने वाला हवाई जहाज में चलेगा, आज महंगाई के कारण चप्पल पहनने वाले व्यक्ति की मोटरसाइकिल भी चल नहीं पा रही है।  आज पेट्रोल की कीमत क्या है? क्या हालत कर दी जनता की। अखिलेश यादव जी ने कहा जब कोरोना जैसी महामारी आई तब सरकार ने बेसहारा छोड़ दिया सरकार ने मदद नहीं की। इससे पहले ओपी राजभर ने कहा कि यूपी के लोग बीजेपी क

एक्शन में उत्तराखंड पुलिसः- नशे के सौदागारों पर कसी जायगी लगाम

देहरादून / उत्तराखंड में पुलिस अब नशे के सौदागरों पर लगाम कसने की तैयारी में जुटी है। इसके लिए एंटी ड्रग टास्क फोर्स को आधुनिक उपकरणों से लैस कर और मजबूत किया जाएगा। साथ ही नशीले पदार्थों की तस्करी से जुड़े तस्करों की संपत्ति कुर्क करने के साथ ही गैंगस्टर की कार्यवाही भी की जाएगी। प्रदेश में नशीले पदार्थों का धंधा बीते कुछ वर्षों में तेजी से फैल रहा है। इनके निशाने पर विशेष तौर पर युवा वर्ग है। इनके हौसले इस कदर बुलंद हो रहे हैं कि वह अब पुलिस से भी नहीं घबरा रहे हैं। यहां तक कि कई बार यह पुलिस के साथ हाथापाई तक कर चुके हैं। तस्करों के निशाने पर अब स्कूल-कॉलेज से लेकर हॉस्टल तक आ गए हैं, जहां हर रोज मादक पदार्थों की खेप बेरोक-टोक पहुंच रही है। नशीले पदार्थों की खेप पश्चिमी यूपी और पंजाब के रास्ते यहां हर रोज पहुंच रही है। इसके खिलाफ पुलिस लगातार अभियान चलाए हुए है लेकिन अभी तक इसमें अपेक्षित सफलता नहीं मिल पाई है। दरअसल, नशीले पदार्थों के मामले में पुलिस जिन्हें गिरफ्तार कर रही है वे बहुत छोटे दलाल होते हैं। जिनके पास 100 ग्राम से लेकर 500 ग्राम तक नशीला पदार्थ मिलता है। इनको नशीला पदार्थ पहुंचाने वाले असली तस्कर अभी भी पुलिस की पकड़ से दूर हैं। इन तस्करों के लिए दलालों का पकड़ा जाना कोई बड़ी बात नहीं है।यहां तक कि वह अब स्कूल-कालेज के ही लड़कों को नशीले पदार्थ सप्लाई करने में लगा रहे हैं। ऐसे में पुलिस के सामने इन पर अंकुश लगाना बड़ी चुनौती बनी हुई है। इसे देखते हुए पुलिस अब नियमों में सख्ती करने जा रही है। इसके तहत अब एंटी टास्क ड्रग फोर्स को मजबूत करने के साथ ही तस्करों पर गंभीर धाराओं पर मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई भी की जाएगी। इन पर गैंगेस्टर लगाने के साथ ही संपत्ति कुर्क करने जैसी कार्रवाई भी प्रस्तावित है। डीजीपी अशोक कुमार का कहना है कि नशीले पदार्थ सप्लाई करने वाले नशे के सौदागारों पर लगाम लगाने के लिए सारे कदम उठाए जाएंगे। पुलिस का प्रयास नशे की बढ़ रही प्रवृति पर रोक लगाने के साथ ही तस्करों पर कड़ी कार्रवाई करना भी है। Sources:Agency News

टिप्पणियाँ

Popular Post