सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

हरियाणा में बड़ा हादसा, दो कारों में टक्कर, 6 लोगों की मौत

    हरियाणा : कैथल में आज सुबह-सुबह एक बड़ा हादसा हो गया। कैथल में मंगलवार की सुबह दो कारें आपस में टकरा गईं, जिसमें 6 लोगों की मौत हो गई। यह घटना कैथल जिले के पाई गांव की है, जहां आज सुबह करीब सात बजे आई-10 और स्विफ्ट डिजायर कार में आमने-सामने से जोरदार टक्कर हुई। इस हादसे में चार लोग घायल हुए हैं, जिनका कैथल सिविल अस्पताल में इलाज चल रहा है।  पुलिस ने बताया कि आई-10 में सवार छह लोग शादी में शामिल होकर पुंडरी लौट रहे थे, जबकि डिजायर में चार सवार कुरुक्षेत्र से कैथल के मल्हार गांव जा रहे थे। आई-10 में यात्रा करने वाले चार मृतकों की पहचान बरेली निवासी सत्यम (26), पुंडरी के रमेश (55), नरवाना के अनिल (55) और हिसार के शिवम (20)  के रूप में हुई है। वहीं, अन्य दो मृतक डिजायर में सफर कर रहे थे, जिनकी पहचान विनोद (34) और पत्नी राजबाला (27) के रूप में हुई है। ये दोनों मल्हार गांव के थे। इनके सात साल के बेटे विराज को चोटें आईं हैं। इसके अलावा, उसी गांव के सोनिया भी घायल हुई हैं।  आई-10 में सफर कर रहे पुंडरी के सतीश और नरवाना के बलराज भी घायल हो गए हैं। इन सभी घायलों का इलाज कैथल सिविल अस्पताल मे

बिहार में नए कृषि कानूनों के विरोध में महागठबंधन ने मानव श्रृंखला बनाई

  

पटना  / बिहार में विपक्षी महागठबंधन के समर्थकों ने राज्यभर में मानव श्रृखंला बनाकर आंदोलन कर रहे किसानों के साथ एकजुटता जताई जो कि तीनों कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की मांग को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं। विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने पटना में बुद्ध स्मृति पार्क के बाहर हुए विरोध-प्रदर्शन में हिस्सा लिया। इस दौरान उनके गठबंधन सहयोगी भी प्रदर्शन में शामिल हुए।दोपहर के बाद शुरू हुए इस प्रदर्शन में विपक्ष के नेता अपने तय स्थान पर करीब तीस मिनट तक खड़े रहे। कुछ लोगों ने एक-दूसरे का हाथ पकड़कर मानव श्रृंखला बनाई जबकि कुछ लोग कोविड-19 के सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करते हुए एक-दूसरे से उचित दूरी पर खड़े हुए। मानव श्रृंखला के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, ‘‘ हमने वर्ष 2017 में दहेज और बाल विवाह के खिलाफ मानव श्रृंखला बनाई थी। पिछले साल, हमने पर्यावरण परिवर्तन के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए मानव श्रृंखला बनाई थी, जिसने पुराने सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए थे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ यह अच्छा है कि और लोग भी प्रेरणा ले रहे हैं।ऐसे कार्यक्रम आयोजित करने का हक सभी को है।’’ इस पर पलटवार करते हुए यादव ने कहा, ‘‘यह एक तुच्छ टिप्पणी है। क्या वह पहले ऐसे व्यक्ति हैं जिन्होंने मानव श्रृंखला बनाई थी? उन्हें नए कृषि कानूनों को लेकर अपना रुख साफ करना चाहिए। ’’ मौके पर मौजूद राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा ने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री द्वारा आयोजित मानव श्रृंखला की सफलता नौकरशाही पर निर्भर करती है। उस समय संबंधित अधिकारियों को लक्ष्य प्राप्त करने के निर्देश दिए गए थे। आज जो यहां हो रहा है, वह सहज है। ’’ पटना में आयोजित की गई मानव श्रृंखला के दौरान भाकपा (माले) के महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य और कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा भी मौजूद रहे।


Sources:Agency News

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव

चित्र

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश