ऋषिकेश बदरीनाथ मार्ग पर हुए पुल हादसे में निर्माण कर रही कंपनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज



ऋषिकेश बदरीनाथ मार्ग पर गूलर के समीप हुए पुल हादसे के मामले में पुलिस ने निर्माण कर रही कंपनी के खिलाफ लापरवाही बरतने सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। रविवार देर शाम करीब छह सवा बजे गूलर के समीप निर्माणाधीन टू लेन पुल ढह गया था।




ऋषिकेश /  ऋषिकेश बदरीनाथ मार्ग पर गूलर के समीप हुए पुल हादसे के मामले में पुलिस ने निर्माण कर रही कंपनी के खिलाफ लापरवाही बरतने सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। रविवार देर शाम करीब छह सवा बजे गूलर के समीप निर्माणाधीन टू लेन पुल ढह गया था। जिसमें एक श्रमिक की मौत हो गई थी, जबकि 13 श्रमिक घायल हुए हैं। घायलों को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया। 90 मीटर लंबे इस पुल का निर्माण गाजियाबाद की  राज श्यामा कंस्ट्रक्शन कंपनी कर रही थी। रिवर साइड हादसा उस वक्त हुआ जब पुल के 45 मीटर हिस्से का लिंटर डाला जा रहा था। मिक्सर मशीन से कंक्रीट की आखिरी खेप उतारते समय अचानक पुल भरभरा कर गिर गया। 


इस संबंध में थाना प्रभारी निरीक्षक मुनिकीरेती आरके सकलानी ने बताया कि संबंधित मामले में प्रथम दृष्टया निर्माण कंपनी की लापरवाही सामने आई है। इस मामले में चौकी प्रभारी गूलर अजयवीर की ओर से कंपनी के खिलाफ निर्माण में लापरवाही बरतने संबंधी अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। उधर, पुल हादसे के बाद सोमवार को राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के मुख्य अभियंता सहित आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर हादसे की जांच की। इस मामले में बीती रात मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्य सचिव को दुर्घटना के कारणों की जांच करने के निर्देश दिए थे।


 


  sources:जेएनएन