प्रदेश में मौसम ने ली करवट,ऊंची पहाड़ियों पर बर्फबारी से मैदानी इलाकों में ठंडक बढ़ी


उत्तराखंड में सोमवार को एक बार फिर मौसम ने करवट बदल ली। पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फबारी और बारिश के कारण मैदानी क्षेत्रों व अन्य जिलों में भी ठंडी हवाएं चलने से ठंड बढ़ गई है। प्रदेश के विभिन्न जिलों में पर्वतीय और मैदानी जिलों में बादल छाए हैं। वहीं, चारधाम सहित ऊंची पहाड़ियों में बर्फबारी हो रही है।


बदरीनाथ की पहाड़ियों समेत ऊंचाई वाले इलाकों में हिमपात जारी है। बर्फबारी के बाद जिले में ठंड बढ़ गई है। जिले की औली, गोरसों सहित हेमकुंड साहिब में भी बर्फबारी हुई है, जबकि नन्दादेवी कामेट में भारी हिमपात जारी है। 


 


मौसम विभाग ने चार से पांच जिलों में अगले 22 नवंबर से चार-पांच दिनों तक बारिश और बर्फबारी की आशंका है। जबकि मैदानी क्षेत्रों में सूखी ठंड में बढ़ोतरी हो सकती है। नवंबर महीने में अभी तक प्रदेश में अधिकांश जगह सूखी ठंड पड़ रही है।


हालांकि दीपावली के बाद एक-दो दिन केदारनाथ, बदरीनाथ की तरह अन्य ऊंचे इलाकों में बर्फबारी हुई। जबकि बाकी इलाकों में बारिश हुई। मगर इसके बाद से मौसम शुष्क बना हुआ है। 


बदरीनाथ के नर नारायण और नीलकंठ की पहाड़ियों  के साथ ही बदरीनाथ धाम में  हिमपात हुआ है। सोमवार को बदले मौसम के तहत रुद्रनाथ, नन्दा देवी, नन्दा घुंघटी आदि ऊंची पहाड़ियों में जोरदार हिमपात जारी है ।


स्थानीय ब्यवस्यायी नागेन्द्र सकलानी ने बताया अभी हल्का पात जारी है । मौसम ऐसा ही रहा तो बर्फ अधिक गिरने की सम्भावना है । बताया गुजरात समेत अन्य राज्यों के पर्यटक यहां पहुंचे हैं ।


मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, 22 नवंबर को उत्तरकाशी, चमोली और रुद्रप्रयाग जिलों में कहीं-कहीं विशेषकर ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बारिश या बर्फबारी हो सकती है।


वहीं 23 और 25 नवंबर को पिथौरागढ़, बागेश्वर, उत्तरकाशी, चमोली और रुद्रप्रयाग जिलों में कुछ स्थानों में बहुत हल्की बारिश या हिमपात होने की संभावना है। जबकि राज्य के शेष जिलों में मौसम शुष्क बना रहेगा।


24 नवंबर को चमोली, पिथौरागढ़, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग जिलों में कहीं-कहीं विशेषकर ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हल्की बारिश या बर्फबारी होने की संभावना है। 26 नवंबर के बाद भी अगले दो-तीन दिनों में मौसम में परिवर्तन के आसार कम हैं।


 


Sources:Hindustan Samachar