पंजाब में नाइट कर्फ्यू की घोषणा : मोहाली के होटल मालिक बोले- हम बर्बाद हो जाएंगे



पंजाब में एक दिसंबर से नाइट कर्फ्यू की घोषणा के बाद मोहाली होटल इंडस्ट्री के लोग सकते में है। होटल मालिकों का कहना है कि एक तो वह पहले से ही नुकसान झेल रहे हैं। ऐसे में अब उनके कारोबार पर और असर पड़ेगा।




 


मोहाली / पंजाब में कोरोना के मामले बढ़ने के बाद एक दिसंबर से रात्रि कर्फ्यू लगाने के निर्देशों के बाद मोहाली प्रशासन ने लोगों को नियमों का पालन करने के निर्देश दिए हैं। बुधवार को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य में फिर से रात को कर्फ्यू लगाने के निर्देश दिए हैं।


वहीं शहर के होटल, रेस्टोरेंट, मैरिज पैलेस रात 9.30 बजे बंद करने के लिए कहा गया है। जबकि कर्फ्यू रात 10 से सुबह पांच बजे तक रहेगा। वहीं मोहाली होटल एसोसिशन के पदाधिकारियों का कहना है कि अगर 9.30 बजे होटल रेस्टोरेंट बंद करने हैं तो उन्हें नौ बजे से अपना काम समेटना पड़ेगा। जबकि लोग होटल, रेस्टोरेंट आदि में खाना खाने के लिए रात आठ बजे तक ही पहुंचते है। अभी तो होटल इंडस्ट्री संभलनी शुरू हुई थी। ऐसे में फिर से नाइट कर्फ्यू लगने से नुकसान होगा।


मोहाली होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष डीके अरोड़ा ने कहा कि होटल इंडस्ट्री पहले ही बुरी तरह प्रभावित है। ऐसे में अब फिर से नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। उन्होंने कहा कि अब अगर बिजनेस डूबना शुरू हुआ तो शायद फिर नहीं संभलेगा। सरकार को होटल इंडस्ट्री के बारे में कुछ राहत पैकेज के साथ साथ कुछ छूट देनी चाहिए।



होटल जेडी रेजिडेंसी के मैनेजर अनीष शर्मा ने कहा कि अगर रात 9.30 बजे होटल बंद करने का समय है तो हमें नौ बजे से काम समेटना पड़ेगा। क्योंकि वर्कर ने दस बजे से पहले घर पहुंचना होगा, क्योंकि 10 बजे से कर्फ्यू होगा तो लेबर को पुलिस तंग करेगी। उन्होंने कहा कि होटल इंडस्ट्री के लिए ये खबर अच्छी नहीं है।


ध्यान रहे कि मोहाली में पिछले एक महीने में कोरोना पॉजिटिव सक्रिय मरीजों की संख्या फिर से 1300 से पार हो गई है। जबकि कोरोना से मरने वाले मरीजों का आंकड़ा 260 से ज्यादा हो गया है। हर रोज 100 से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आ रहे है। वहीं डीसी मोहाली ने इस मामले में लोगों को नियमों का पालन करने के निर्देश दिए हैं।


 


Sources:Agency News