सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव.संग्राम 2022: भाजपा.और आप के बीच में छिड़ा स्टार वार,कांग्रेस कर रही इंतजार

      भाजपा व आप ने रणनीति के तहत स्टार वार का गेम शुरू किया है। दरअसल, आचार संहिता लागू होने पर वीवीआईपी की रैलियां कराने के लिए पूरा खर्चा प्रत्याशियों के खाते में शामिल होता है।  उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले स्टार वार शुरू हो चुका है। भाजपा और आम आदमी पार्टी अभी इसमें आगे चल रही है, जबकि कांग्रेस अभी इंतजार के मूड में है।   निर्वाचन आयोग की टीमों की इस पर पैनी नजर रहती हैं।  निर्धारित सीमा से ज्यादा खर्च होने की दशा में ऐसे प्रत्याशियों को आयोग के नोटिस झेलने पड़ते हैं और चुनाव के वक्त इनका जवाब देने में उनका समय अनावश्यक जाया होता है। भाजपा में सबसे ज्यादा डिमांड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की है। वे दो माह के भीतर उत्तराखंड के दो दौरे कर चुके हैं। पहले वे सात अक्तूबर को ऋषिकेश एम्स में आक्सीजन प्लांट जनता को समर्पित करने आए और इसके बाद पांच नवंबर को केदारनाथ धाम के दर्शन को पहुंचे। अब मोदी चार दिसंबर को दून में चुनाव रैली संबोधित करने आ रहे हैं। उधर, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस बीच दो दौरे कर चुके हैं। अक्तूबर में कुमाऊं के कई हिस्सों में आपदा के बाद वे रेस्क्यू आपरेशन

उत्तराखण्ड: भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का दौरा तय कर सकता है विधायकों का भविष्य

 


 भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का उत्तराखंड दौरा भाजपा के विधायकों का भविष्य तय होगा। इस दौरान राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदेश नेतृत्व से भाजपा विधायकों के कामों की रिपोर्ट लेंगे। प्रदेश नेतृत्व से कमजोर प्रदर्शन करने वाले व विरोधी बयान देने वाले विधायकों का भी लेखा-जोखा मांगा गया है। सूत्रों की माने तो राष्ट्रीय अध्यक्ष ने अल्मोड़ा दौरे में हुई विधान सभा कोर कमेटी की बैठक के बाद विधायकों के कामों के बारे में भी जानकारी हासिल की। ताकि उनके टिकट व नए दावेदारों को लेकर निर्णय लिया जा सकेभाजपा के सूत्रों के मुताबिक उत्तराखंड में भाजपा विधायकों की नाराजगी फिलहाल सामने नजर नहीं आ रही। लेकिन पूर्व में भाजपा विधायकों की ओर से एक दूसरे के खिलाफ व सरकार के कामों को लेकर की गई बयानबाजी की केन्द्रीय नेतृत्व को पूरी जानकारी है। इसीलिए केन्द्रीय नेतृत्व ने ऐसे विधायकों का प्रदेश नेतृत्व से रिपोर्ट कार्ड तैयार कराया है।इसी रिपोर्ट कार्ड के मुताबिक केन्द्रीय नेतृत्व विधायकों के टिकट तय करेगा। इसी उद्देश्य से राष्ट्रीय अध्यक्ष ने अल्मोड़ा में 12 विधानसभाओं की कोर कमेटी के सदस्यों साथ बैठक की। बैठक के दौरान जिलाध्यक्ष, मंडल अध्यक्ष, शक्ति केन्द्र प्रमुख व बूथ कार्यकर्ताओं तक को चुनाव के दौरान क्षेत्र में रहकर कार्य करने का लक्ष्य दिया गया।साथ ही हर वर्ग के लोगों को पार्टी से जोड़ने की जिम्मेदारी सौंपी गई। भाजपा विधायकों हर रोज क्षेत्र में रहकर घर-घर संपर्क करने को कहा गया। यूएस नगर में भी चम्पावत, नैनीताल, ऊधमसिंह नगर की विधान सभाओं की कोर कमेटी के सदस्यों की बैठक होगी। इस दौरान विधायकों के कामों के बारे फिडबैक लिया जाएगा। इसके बाद टिकट पर स्थिति साफ होने की उम्मीद है।

टिप्पणियाँ

Popular Post