सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश

    नई दिल्‍ली /   सुप्रीम कोर्ट त्रिपुरा में हाल ही में हुई सांप्रदायिक हिंसा के मामले में राज्य पुलिस की कथित मिली-भगत और निष्क्रियता के आरोपों की स्वतंत्र जांच के लिए दाखिल याचिका पर सुनवाई के लिए सहमत हो गया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर सोमवार को केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। न्यायमूर्ति डीवाई चन्द्रचूड़ और न्यायमूर्ति एएस बोपन्ना की पीठ ने सरकारों को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने का निर्देश दिया है।  अधिवक्ता ई. हाशमी की ओर से दाखिल याचिका पर अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने पैरवी की। उन्‍होंने सर्वोच्‍च अदालत से कहा कि वे हालिया साम्प्रदायिक दंगों की स्वतंत्र जांच चाहते हैं। इस मामले में अब दो हफ्ते बाद सुनवाई होगी। भूषण ने कहा कि सर्वोच्‍च अदालत के समक्ष त्रिपुरा के कई मामले लंबित हैं। पत्रकारों पर यूएपीए के आरोप लगाए गए हैं। यही नहीं कुछ वकीलों को नोटिस भेजा गया है। पुलिस ने हिंसा के मामले में कोई एफआइआर दर्ज नहीं की है। ऐसे में अदालत की निगरानी में इसकी जांच एक स्वतंत्र समिति से कराई जानी चाहिए। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने याचिका की प्रति केंद्रीय एजेंसी और

दाह संस्कार कर लौट रहे सुशांत सिंह राजपूत के 5 रिश्तेदारों की सड़क हादसे में मौत

 


 बॉलीवुड के दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के परिवार पर एक बार फिर से गमों का पहाड़ टूट गिरा है। परिवार के सदस्यों की सड़क दुर्घटना में दुखद मौत की खबर है। हादसा बिहार के लखीसराय जिले में हुआ है। बताया जा रहा है कि इस हादसे में जमुई जिले के खैरा थाना इलाके के भंडारा गांव के एक परिवार के 6 लोगों की मौत हो गई है। इन 6 लोगों में से चार लोग अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के रिश्तेदार थे। जानकारी के मुताबिक सुशांत राजपूत के बहनोई और हरियाणा कैडर के आईपीएस अधिकारी ओमप्रकाश सिंह के चार रिश्तेदार थे। 

ओमप्रकाश सिंह की बहन का अंतिम संस्कार कर उनके बहनोई अपने बच्चों के साथ पटना से अपने घर लौट रहे थे। सुमो विक्टा में 10 लोग सवार थे। हादसे में 6 लोगों की मौत हो गई है जबकि चार गंभीर रूप से घायल हुए हैं। घर लौटते समय सुमो विक्टा अनियंत्रित होकर एक ट्रक से टकरा गई जिसके बाद यह हादसा हुआ। लखीसराय के पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार ने बताया कि मृतकों में एक ही परिवार के लालजीत सिंह (40), अमित शेखर (30), रामचंद्र सिंह (38), बीबी देबी (32) और अनीता देवी (31) तथा उनकी गाड़ी का चालक प्रीतम कुमार (27) शामिल हैं। 

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस हादसे में जख्मी हुए चार लोगों में से दो की गंभीर स्थिति देखते हुए उन्हें पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया गया है जबकि दो अन्य का लखीसराय सदर अस्पताल में इलाज चल रहा है। एसपी कुमार ने बताया कि कार में सवार उक्त सभी लोग पटना से जमुई जिले के खैरा थाना अंतर्गत अपने गांव भंडरा जा रहे थे। ये लोग लालजी सिंह की पत्नी गीता देवी के इलाज के लिए पटना गए थे। इलाज के दौरान गीता देवी की मृत्यु हो जाने पर उनका अंतिम संस्कार कराने के बाद अपने गांव लौट रहे थे तभी वे इस हादसे का शिकार हो गए।

टिप्पणियाँ

Popular Post