सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

सरकार से बातचीत के लिए संयुक्त किसान मोर्चा ने बनाई 5 लोगों की कमेटी, टिकैत बोले- हम कहीं नहीं जा रहे

  कृषि कानूनों के निरस्त होने के बाद आज संयुक्त किसान मोर्चा के अहम बैठक हुई। इस बैठक में आंदोलन संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। इसके साथ ही 5 लोगों की कमेटी बनाई गई है जो सरकार से एमएसपी और किसानों से केस वापसी जैसे मुद्दों पर बातचीत करेगी। अब संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक 7 दिसंबर को होगी। बैठक के बाद राकेश टिकैत ने बताया कि 5 लोगों की कमेटी बनाई है। यह कमेटी सरकार से सभी मामलों पर बातचीत करेगी। अगली मीटिंग संयुक्त किसान मोर्चा की यहीं पर 7 तारीख को 11-12 बजे होगी। इस 5 लोगों की कमेटी में युद्धवीर सिंह, शिवकुमार कक्का, बलबीर राजेवाल, अशोक धवाले और गुरनाम सिंह चढुनी के नाम पर सहमति बनी है। बताया जा रहा है कि यह संयुक्त किसान मोर्चा की यह हेड कमेटी होगी जो किसानों से जुड़े मुद्दे पर महत्वपूर्ण फैसले लेगी। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि अब तक सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर बातचीत के लिए किसानों को नहीं बुलाया गया है। लेकिन जब भी सरकार की ओर से किसानों को बातचीत के लिए बुलाया जाएगा, यह 5 लोग ही जाएंगे। राकेश टिकैत की ओर से फिर दोहराया गया कि आंदोलन फिलहाल खत्म नहीं होगा। उन

हरक्युलिस विमान से पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर उतरे प्रधानमंत्री , मंच पर पहुंच पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का किया लोकार्पण

 


 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ये एक्सप्रेसवे यूपी की शान है। ये यूपी का कमाल है। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को यूपी की जनता को समर्पित करते हुए अपने आप को धन्य महसूस कर रहा हूं। उन्होंने प्रदेश की पूर्ववर्ती सरकारों पर भी निशाना साधा और कहा कि उत्तर प्रदेश में जिस तरह से राजनीति हुई, जिस तरह से लंबे समय तक सरकारें चलीं उसने यूपी के सर्वांगीण विकास पर ध्यान ही नहीं दिया। यूपी का यह क्षेत्र तो माफियावाद और यहां के लोगों को गरीबी के हवाले कर दिया गया था।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि तीन साल पहले जब मैंने पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का शिलान्यास किया था तब मैंने नहीं सोचा था कि एक दिन इस एक्सप्रेसवे पर ही मैं विमान से उतरूंगा भी। यह एक्सप्रेसवे यूपी के विकास का एक्सप्रेसवे है। यह एक्सप्रेसवे यूपी की प्रगति का एक्सप्रेसवे है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि दुनिया में जिसको भी यूपी के लोगों का सामर्थ्य देखना हो वो पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को देख ले। यह एक्सप्रेसवे नए यूपी का एक्सप्रेसवे है। ये एक्सप्रेसवे यूपी की संकल्प शक्ति का प्रकटीकरण है। यह एक्सप्रेसवे यूपी की बढ़ती अर्थव्यवस्था का प्रतीक है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का लोकार्पण कर दिया है। इसके बाद उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए अपना भाषण स्थानीय भाषा में शुरू किया। उन्होंने कहा कि जिस धरती पर हनुमानजी ने कालनेमि का वध किया। उस पावन धरती के लोगों का मैं चरण स्पर्श करता हूं। उन्होंने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के लोकार्पण की जनता को बधाई दी।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जल्द ही कानपुर मेट्रो का भी उद्घाटन हो जाएगा। प्रदेश में तेजी से इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास किया जा रहा है। यह पूर्वांचल एक्सप्रेसवे प्रदेश के विकास की एक तस्वीर है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंच पर पहुंचने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वागत भाषण दिया। इस मौके पर राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, सुल्तानपुर की सांसद मेनका गांधी सहित भाजपा के जनप्रतिनिधि मौजूद हैं।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का शिलान्यास तीन साल पहले किया गया था और आज सिर्फ 36 महीने में 341 किलोमीटर का एक्सप्रेसवे का उद्घाटन होने जा रहा है। यह एक्सप्रेसवे पूर्वांचल के विकास को नई ऊंचाइयां देने वाला साबित होगा।पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के उद्घाटन के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जनसभा को संबोधित करेंगे। पीएम मोदी मंच पर पहुंच चुके हैं। पीएम मोदी के संबोधन के बाद एयर शो शुरू होगा। एयर स्ट्रिप पर एयर शो में कुल 11 विमान अपनी ताकत दिखाएंगे। इनमें सुखोई-30, सी-130 जे, मिराज, जगुआर व हरक्युलिस शामिल हैं।इस पूर्वांचल एक्सप्रेस से यूपी के पूर्वांचल के इलाकों की दिल्ली से दूरी कम होगी। यूपी एक्सप्रेसवेज इंडस्ट्रियल डवलपमेंट अथॉरिटी (यूपीडा) के सीईओ अवनीश अवस्थी ने कहा कि  एक्सप्रेस-वे पर बैटरी चार्जिंग स्टेशन लगाने के लिए निशुल्क जमीन दी जाएगी। हर पुलिस चौकी के पास हेलीपैड बनाए जाएंगे। 

फिलहाल इस पर टोल टैक्स नहीं वसूला जाएगा।पूर्वांचल एक्सप्रेसवे प्रदेश के विकास का इंजन तो बनेगा ही इस पर बनीं स्ट्रिप वायुसेना के भी काम आएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उद्घाटन समारोह में संबोधन भी देंगे। इसके लिए बड़ी संख्या में लोग आए हैं। विमान की लैंडिंग के समय आसपास के गांव के लोग भी मौजूद रहे।यूपी के पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के उद्घाटन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंच चुके हैं। वह इस एक्सप्रेसवे पर बनाई गई हवाई पट्टी पर भारतीय वायुसेना के मालवाहक विमान सी-130जे हरक्युलिस से उतरे। प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व प्रदेश के अफसरों ने किया। यह एक्सप्रेस वे 341 किलोमीटर लंबा है। इस पर साढ़े तीन किलोमीटर की एयर स्ट्रिप बनाई गई है जिस पर आपात स्थिति में सेना के जहाज उतर सकते हैं। 

यह एयर स्ट्रिप सीमेंट से बनाई गई है।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि एक्सप्रेस-वे यूपी में भारत का ग्रोथ इंजन बनने का प्रमाण है। एक्सप्रेस-वे इसका भी प्रमाण है कि डबल इंजन की सरकार कैसे कार्य करती है। उन्होंने कहा कि यह पूर्वी उत्तर प्रदेश के नौ जिलों के साथ ही बिहार के लिए भी महत्वपूर्ण है।कार्यक्रम स्थल पर पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री पूर्वी उत्तर प्रदेश का बैकबोन कहे जाने वाले एक्सप्रेस-वे को एक बजे राष्ट्र को समर्पित करेंगे। उन्होंने फिर दोहराया कि प्रधानमंत्री ने जुलाई वर्ष 2018 में एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास किया था। 19 माह के कोराना काल खंड के बाद भी 341 किमी लंबा एक्सप्रेस-वे 36 माह में बनकर तैयार हुआ है।एक्सप्रेस-वे पूर्वी उप्र के करीब आठ करोड़ जनमानस के विकास व उज्ज्वल भविष्य का आधार बनेगा। प्रदेश की राजधानी लखनऊ से पूर्वी उप्र को एक्सप्रेस-वे जोड़ेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री की रुचि पूर्वी उप्र के विकास के प्रति रही। एक्सप्रेस-वे बनने से यह सही साबित हुआ है।पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के उद्घाटन की पूरी तैयारियां कर ली गई हैं। जगह-जगह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बड़े-बड़े होर्डिंग लगाए गए हैं। यह एक्सप्रेसवे लखनऊ के गाजीपुर तक नौ जिलों को जोड़ेगा। इसके साथ ही अपेक्षाकृत पिछड़े इलाके पूर्वांचल को विकास के पंख लग जाएंगे। एक्सप्रेस-वे के नजदीकी क्षेत्रों में उद्योगों के विकास के साथ शैक्षणिक व स्वास्थ्य संस्थान, वाणिज्यिक केंद्र खुलने से विकास के साथ रोजगार की नई राह भी खुलेगी।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पहले पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का समाजवादी पार्टी (सपा) के कार्यकर्ताओं ने लोकार्पण कर दिया। 

इतना ही नहीं सपाइयों ने पुलिस को चकमा देकर एक्सप्रेस-वे पर साइकिल यात्रा भी निकाल दी। इसे लेकर प्रशासनिक महकमा सकते में आ गया है।एक तरफ यूपी की भाजपा सरकार इस समारोह की तैयारियां जोरों से कर रही है, वहीं सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव इसपर तंज कसने का एक मौका नहीं छोड़ रहे हैं। आज सुबह उन्होंने ट्वीट किया कि 'फीता आया लखनऊ से और मुख्यमंत्री योगी ने बताया था कि प्रधानमंत्री पूर्वी उत्तर प्रदेश का बैकबोन कहे जाने वाले एक्सप्रेस-वे को मंगलवार दोपहर एक बजे राष्ट्र को समर्पित करेंगे। उन्होंने कहा कि एक्सप्रेस-वे यूपी में भारत का ग्रोथ इंजन बनने का प्रमाण है। एक्सप्रेस-वे इसका भी प्रमाण है कि डबल इंजन की सरकार कैसे कार्य करती है।



टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव