सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

सरकार से बातचीत के लिए संयुक्त किसान मोर्चा ने बनाई 5 लोगों की कमेटी, टिकैत बोले- हम कहीं नहीं जा रहे

  कृषि कानूनों के निरस्त होने के बाद आज संयुक्त किसान मोर्चा के अहम बैठक हुई। इस बैठक में आंदोलन संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। इसके साथ ही 5 लोगों की कमेटी बनाई गई है जो सरकार से एमएसपी और किसानों से केस वापसी जैसे मुद्दों पर बातचीत करेगी। अब संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक 7 दिसंबर को होगी। बैठक के बाद राकेश टिकैत ने बताया कि 5 लोगों की कमेटी बनाई है। यह कमेटी सरकार से सभी मामलों पर बातचीत करेगी। अगली मीटिंग संयुक्त किसान मोर्चा की यहीं पर 7 तारीख को 11-12 बजे होगी। इस 5 लोगों की कमेटी में युद्धवीर सिंह, शिवकुमार कक्का, बलबीर राजेवाल, अशोक धवाले और गुरनाम सिंह चढुनी के नाम पर सहमति बनी है। बताया जा रहा है कि यह संयुक्त किसान मोर्चा की यह हेड कमेटी होगी जो किसानों से जुड़े मुद्दे पर महत्वपूर्ण फैसले लेगी। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि अब तक सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर बातचीत के लिए किसानों को नहीं बुलाया गया है। लेकिन जब भी सरकार की ओर से किसानों को बातचीत के लिए बुलाया जाएगा, यह 5 लोग ही जाएंगे। राकेश टिकैत की ओर से फिर दोहराया गया कि आंदोलन फिलहाल खत्म नहीं होगा। उन

देश में अंग्रेजी व्यवस्था हुई खत्म,अब सूर्यास्त के बाद भी हो सकेगा पोस्टमार्टम

 


 अब देश के अस्पतालों में सर्यास्त के बाद भी शव का पोस्टमार्टम किया जाएगा। केन्द्र सरकार ने पर्याप्त बुनियादी सुविधाओं वाले अस्पतालों में सूर्यास्त के बाद भी पोस्टमार्टम करने को लेकर सोमवार को फैसला सुनाया है। बता दें कि सरकार ने हत्या, सुसाइड, बलात्कार और संदिग्ध हालात में हुई मौत के मामले को लेकर सूर्यास्त के बाद शव का पोस्टमार्टम करने की अनुमति नहीं दी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने इसकी जानकारी ट्वीटर पर शेयर की है। उन्होंने लिखा है कि, अब देश में अंग्रेजों के समय की व्यवस्था खत्म हो गई है। अब देश के अस्पतालों में 24 घंटे पोस्टमार्टम हो पाएगा। मांडविया ने आगे लिखा कि, प्रधानमंत्री मोदी जी के Good Governance के विचार को आगे बढ़ाते हुए, स्वास्थ्य मंत्रालय ने निर्णय लिया है कि जिन हॉस्पिटल के पास रात को Post-mortem करने की सुविधा है वो अब सूर्यास्त के बाद भी Post-mortem कर पाएँगे। आपको बता दें कि, इस आदेश से पहले दिन ढलने के बाद शवों का पोस्टमार्टम नहीं किया जाता था।स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि, देश के पीएम मोदी के विचारों को आगे बढ़ाते हुए यह निर्णय लिया गया। जिन अस्पतालों में रात को भी पोस्टमार्टम कराया जाता है वहां सूर्यास्त के बाद भी पोस्टमार्टम कर सकेंगे। इस निणर्य से अंगदान को भी बढ़ावा मिलेगा क्योंकि, पोस्टमार्टम के प्रक्रिया के बाद निर्धारित समय में अंगों को निकाला जा सकता है। जानकारी के लिए बता दें कि, सरकार के इस फैसले के बाद देश में अंग्रेजों के शासनकाल से लागू व्यवस्था को खत्म कर दिया गया है।


अंग्रेजो के समय की व्यवस्था खत्म! 24 घंटे हो पाएगा Post-mortem PM जी के 'Good Governance' के विचार को आगे बढ़ाते हुए, स्वास्थ्य मंत्रालय ने निर्णय लिया है कि जिन हॉस्पिटल के पास रात को Post-mortem करने की सुविधा है वो अब सूर्यास्त के बाद भी Post-mortem कर पाएँगे।

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव