सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

नए वेरिएंट फैलने की आशंका : आश्रमों और गेस्ट हाउस में भी देना होगा अब कोरोना जांच का प्रमाणपत्र

  मथुरा / उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में वृन्दावन शहर में दस विदेशी एवं एक देशी नागरिक के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सभी गेस्ट हाउसों एवं आश्रमों को कहा है कि वे अपने आने वाले हर देशी-विदेशी मेहमान का पूरा ब्योरा रखें और उनके पास कोरोना जांच का नेगेटिव प्रमाण पत्र होने के बाद ही उन्हें अपने यहां ठहराएं। गौरतलब है कि लंबे समय तक कोरोना वायरस का मामला नहीं आने के बाद बरती गई लापरवाही के बाद अब फिर से कोरोना संक्रमितों के मिलने का सिलसिला चल पड़ा है। वृन्दावन में पिछले सप्ताह से अब तक दस विदेशी एवं एक उड़ीसा की भारतीय नागरिक संक्रमित पाई जा चुकी है। तीन विदेशी जिला स्तर पर कोई सूचना दिए बिना यहां से लौट भी चुके हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रचना गुप्ता ने कहा है कि गेस्ट हाउस एवं आश्रम बाहर से आने वाले व्यक्तियों के रुकने से पूर्व उनके कोविड वैक्सीनेशन प्रमाणपत्र एवं कोविड-19 जांच रिपोर्ट प्राप्त कर ही उन्हें ठहराएं तथा ऐसा नहीं होने पर वे तत्काल स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष को रिपोर्ट करें। उनके अनुसार नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। न

पंजाब: अभिनेता सोनू सूद की बहन लड़ेंगी विधानसभा चुनाव

  


 आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर अभिनेता सोनू सूद ने एक बार फिर सस्पेंस बरकरार रखते हुए किसी भी राजनीतिक पार्टी से जुड़ने की बात से इनकार कर दिया है। रविवार को मोगा में अपने आवास पर प्रेसवार्ता का आयोजन कर सोनू सूद ने घोषणा की है कि फिलहाल वह किसी भी राजनीतिक पार्टी से नहीं जुड़ेंगे। वहीं उन्होंने कहा है कि उनकी बहन मालविका सच्चर सूद मोगा से विधानसभा चुनाव लड़ेंगी लेकिन वह भी किस पार्टी की टिकट से चुनाव लड़ेंगी, इसको लेकर भी अभी स्थिति स्पष्ट नहीं की गई है।

सोनू ने कहा कि वह पंजाब के लोगों की सेवा करना चाहते हैं और उनकी बहन भी इसी इच्छा को लेकर राजनीति में आने जा रही हैं। उनकी बहन मालविका जिस भी पार्टी से चुनाव लड़ेंगी वह उसका प्रचार करेंगे। जल्द ही वह इस संबंध में फैसला लेकर लोगों को बता देंगे कि वे किस पार्टी में जा रही हैं।बता दें कि हाल ही में अभिनेता सोनू सूद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिले थे, जिसके बाद से चर्चा थी कि सोनू आम आदमी पार्टी में शामिल हो रहे हैं और वह आगामी चुनाव में आम आदमी पार्टी का सीएम चेहरा हो सकते हैं लेकिन दो दिन पहले सोनू सूद ने पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से मुलाकात की, जिसके बाद सोनू और उनके परिवार की कांग्रेस में शामिल होने की चर्चा शुरू हो गई।

इस चर्चा ने तब तूल पकड़ा जब शनिवार के दिन मोगा में सोनू सूद के घर एसएसपी एसएस मंड, डीसी हरीश नायर समेत इंटेलिजेंस की टीम के साथ पहुंचे। कहा जा रहा था कि शनिवार शाम तक पंजाब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू मोगा में सोनू सूद से मिलने उनके घर पहुंच रहे हैं, इसीलिए प्रशासनिक अधिकारी पहले से उनके घर आए हैं लेकिन सिद्धू शनिवार सोनू से मिलने मोगा नहीं पहुंचे। इसके बाद रविवार को प्रेसवार्ता कर सोनू ने खुद को राजनीति से दूरी बनाने की बात करते हुए अपनी बहन के चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी। 

प्रेसवार्ता के दौरान मीडिया द्वारा बार-बार सवाल पूछा गया कि सोनू की बहन मालविका सच्चर सूद आखिर किस पार्टी में शामिल हो रही हैं। सोनू व उनकी बहन ने गोलमोल जवाब देते हुए यही बात दोहराई कि अभी सही समय नहीं है, समय आने पर यह भी साफ कर दिया जाएगा। वहीं सोनू सूद ने कहा कि भविष्य में वह चाहे किसी भी पार्टी से जुड़े, वह किसी भी राजनेता के खिलाफ कोई बयानबाजी नहीं करेंगे। वह स्थानीय नेताओं को साथ लेकर मोगा व पंजाब वासियों की समस्याओं का समाधान करना चाहते हैं।



टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव