सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

देहरादून : सीएम ने परेड ग्राउंड का लिया जायजा, पीएम दून जनसभा में 30 हजार करोड़ की योजनाओं की देंगे सौगात

    देहरादून /  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चार दिसंबर को उत्तराखंड के दौरे पर रहेंगे। वे देहरादून में जनसभा को संबोधित करेंगे। पीएम मोदी के दौरे को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी तैयारियों का जायजा लेने परेड ग्राउंड पहुंचे। इस दौरान उन्होंने जिला प्रशासन को समय से सभी व्यवस्थाओं को पूरा करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री धामी ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी अपने दौरे के दौरान 30 हजार करोड़ रुपये की योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया जाएगा। इस दौरान कैबिनेट मंत्री डा. धन सिंह रावत, भाजपा संगठन महामंत्री अजय कुमार, प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, आइजी इंटेलीजेंस संजय गुज्याल, जिलाधिकारी डा. आर राजेश कुमार, एसएसपी जन्मेयजय खंडूड़ी और अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की प्रस्तावित जनसभा को लेकर जिला प्रशासन हाई अलर्ट मोड में है। शनिवार को जिलाधिकारी डा. आर राजेश कुमार, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जन्मेजय खंडूड़ी समेत तमाम अधिकारियों ने परेड ग्राउंड का सघन निरीक्षण किया है। प्रशासन की मशीनरी दिनभर यह तय करने में जुटी रही कि परेड ग्राउंड को जनसभा के लिए किस तरह तैयार करना ह

गया: नक्सलियों ने मचाया तांडव,एक ही परिवार के 4 लोगों को मार कर लटकाया,घर भी उड़ाया

 


 बिहार की कानून व्यवस्था पर लगातार सवाल उठ रहे हैं क्योंकि अपराध तेजी से बढ़ता दिख रहा है। ताजा घटना में गया जिले के एक सुदूर गांव में माओवादियों ने दो महिलाओं समेत एक ही परिवार के चार सदस्यों की हत्या कर दी तथा विस्फोट कर उनका घर उड़ा दिया। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) के अनुसार बिहार-झारखंड सीमा के समीप डुमरिया थानाक्षेत्र में प्रतिबंधित भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) के सदस्यों ने शनिवार रात को सरयू सिंह भोक्ता के घर पर हमला किया। पुलिस के अनुसार, उस वक्त भोक्ता अपने घर पर नहीं थे, लेकिन हमलावरों ने उनके दो बेटों एवं उनकी पत्नियों को मार डाला तथा उनके शवों को गोशाला में बांस के खंभों पर लटका दिया।

पुलिस के मुताबिक, माओवादियों ने उसके बाद बम लग दिया एवं विस्फोट कर उनके घर को उड़ा दिया। पुलिस ने बताया कि माओवादियों ने एक पर्चा छोड़ा है जिसमें उन्होंने भोक्ता और उनके परिवार पर पुलिस के लिये मुखबिरी करने का आरोप लगाया है। भाकपा (माओवादी) ने इस पर्चे में दावा किया है कि इस परिवार की मुखबिरी के चलते इस साल मार्च में स्थानीय पुलिस और कोबरा बटालियन ने मुठभेड़ में चार नक्सलियों को मार गिराया था और भारी मात्रा में हथियार एवं गोला-बारूद बदामद किया गया था। एडीजी ने कहा, ''गया के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आदित्य कुमार घटनास्थल पर डेरा डाले हुए हैं और अपराधियों की धर-पकड़ के लिए तलाशी अभियान की निगरानी कर रहे हैं। झारखंड से सटे अन्य जिलों के पुलिस प्रमुखों से भी नक्सली गतिविधि के मद्देनजर तलाशी अभियान चलाने को कहा गया है।’’

दूसरी ओर, राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली सरकार पर तीखा हमला करते हुए आरोप लगाया कि वह पिछले कुछ दिनों में राज्य में हत्या के दो प्रमुख मामलों में कथित अपराधियों को बचा रही है। संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए विपक्ष के नेता ने मधुबनी में एक आरटीआई कार्यकर्ता और स्वतंत्र पत्रकार और पूर्णिया में एक जिला पार्षद के पति रिंटू सिंह की हत्या को लेकर सरकार पर निशाना साधा। उधर विपक्ष के आरोप पर प्रतिक्रिया देते हुए राज्य सरकार के मंत्री ने कहा है कि अपराधियों को बख्शा नहीं जायेगा।

टिप्पणियाँ

Popular Post