उत्तराखंड: आईएमए के पास सेना का जवान बनकर घूम रहे बहरूपिये को इंटेलिजेंस और पुलिस ने किया गिफ्तार

 


  देहरादून स्थित भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) के पास सेना का जवान बनकर घूम रहे बहरूपिये सुनील को आर्मी इंटेलिजेंस और पुलिस की संयुक्त टीम ने गिफ्तार किया है।आईएमए के पास के गिरफ्तार हुए बहरूपिये ने विंग कमांडर अभिनंदन जैसी मूछें रखी हुई हैं। बताया गया कि दिल्ली, जोशीमठ और देहरादून में खुद को सेना का जवान बताने वाले इस युवक पर मिलिट्री इंटेलिजेंस की लंबे समय से नजर थी।उक्त युवक के पास से फर्जी कैंटीन कार्ड, सेना की वर्दी और कई बटालियनों की टोपी के साथ विभिन्न दस्तावेज बरामद हुए हैं। बताया जा रहा है कि आरोपी के तार फर्जी भर्ती करवाने वाले गिरोह से भी जुड़े हैं।आरोपी का नाम सुनील है और वह मूल रूप से हनुमानगढ़, राजस्थान का रहने वाला है। सुनील आईएमए और अन्य आर्मी इलाकों के आसपास घूमकर युवाओं को सेना में भर्ती करवाने का झांसा देता था।एसपी सिटी सरिता डोभाल ने बताया कि आर्मी इंटेलिजेंस ने आरोपी से कई घंटों पूछताछ की। जिसमें गिरोह के अन्य लोगों के बारे में भी जानकारी मिली। जिसके बाद टीम जौलीग्रांट इलाके में सक्रिय बहरूपियों के बारे में मिले इनपुट पर कार्रवाई करने के लिए रवाना हुई है।