सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश

    नई दिल्‍ली /   सुप्रीम कोर्ट त्रिपुरा में हाल ही में हुई सांप्रदायिक हिंसा के मामले में राज्य पुलिस की कथित मिली-भगत और निष्क्रियता के आरोपों की स्वतंत्र जांच के लिए दाखिल याचिका पर सुनवाई के लिए सहमत हो गया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर सोमवार को केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। न्यायमूर्ति डीवाई चन्द्रचूड़ और न्यायमूर्ति एएस बोपन्ना की पीठ ने सरकारों को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने का निर्देश दिया है।  अधिवक्ता ई. हाशमी की ओर से दाखिल याचिका पर अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने पैरवी की। उन्‍होंने सर्वोच्‍च अदालत से कहा कि वे हालिया साम्प्रदायिक दंगों की स्वतंत्र जांच चाहते हैं। इस मामले में अब दो हफ्ते बाद सुनवाई होगी। भूषण ने कहा कि सर्वोच्‍च अदालत के समक्ष त्रिपुरा के कई मामले लंबित हैं। पत्रकारों पर यूएपीए के आरोप लगाए गए हैं। यही नहीं कुछ वकीलों को नोटिस भेजा गया है। पुलिस ने हिंसा के मामले में कोई एफआइआर दर्ज नहीं की है। ऐसे में अदालत की निगरानी में इसकी जांच एक स्वतंत्र समिति से कराई जानी चाहिए। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने याचिका की प्रति केंद्रीय एजेंसी और

उत्तराखंड: विदेशों में पाया जाने वाला दुर्लभ सांप देहरादून में मिला, लगाता है पेड़ों पर छलांग

 


 वन विभाग की रेस्क्यू टीम ने बुधवार को राजधानी के हाथीबड़कला इलाके से दुर्लभ प्रजाति के सांप ब्रोंजबैक ट्री स्नेक सांप को पकड़ा है। ब्रोंजबैक ट्री स्नेक को सुरक्षित जंगल में छोड़ दिया गया है।वन विभाग की रेस्क्यू टीम में शामिल विशेषज्ञ रवि जोशी और जितेेंद्र बिष्ट को हाथीबड़कला निवासी गायत्री सहगल ने जानकारी दी थी। बुधवार को उनके घर में सांप निकला था। जानकारी मिलने पर रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची और सांप को पकड़ना चाहा तो सांप ने लंबी छलांग लगा दी। काफी जद्दोजहद के बाद रेस्क्यू टीम ने जैसे-तैसे सांप पकड़ा। पकड़ा गया सांप ब्रोंजबैक ट्री स्नेक था जो फिलहाल राजधानी दून में दूसरी बार मिला है। भारतीय वन्यजीव संस्थान के सरीसृप विज्ञानी डॉ. अभिजीत दास के अनुसार ब्रोंजबैक ट्री स्नेक अमूमन घने जंगलों के बीच पेड़ों की डालियों पर रहता है। यह सांप एक डाली से दूसरे डाली के बीच लंबी छलांग लगा सकता है। इसकी वजह से इसे उड़ने वाला सांप भी कहा जाता है। ब्रोंजबैक ट्री स्नेक किसी भी प्रकार का खतरा महसूस होने पर अपना रंग भी  बदल लेता है। साथ ही बेहद पतला होने के कारण पेड़ की टहनियों में छिप जाता है। इसकी सिर चौड़ा और देह चपटी गोल होती है। अन्य सांपों की तुलना में इसकी आंखें थोड़ी बड़ी और पूंछ लंबी तार जैसी होती है।ब्रोंजबैक ट्री स्नेक भारत के अलावा बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका और पाकिस्तान जैसे देशों में भी पाया जाता है। इसका पसंदीदा भोजन मेढ़क और छिपकली है। कोबरा, करैत जैसे जहरीले सांपों की तरह ब्रोंजबैक ट्री स्नेक जहरीला बिल्कुल नहीं होता है। इसके काटने का इंसान हो या अन्य जीवों पर कोई खास फर्क नहीं पड़ता है।



टिप्पणियाँ

Popular Post