सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव.संग्राम 2022: भाजपा.और आप के बीच में छिड़ा स्टार वार,कांग्रेस कर रही इंतजार

      भाजपा व आप ने रणनीति के तहत स्टार वार का गेम शुरू किया है। दरअसल, आचार संहिता लागू होने पर वीवीआईपी की रैलियां कराने के लिए पूरा खर्चा प्रत्याशियों के खाते में शामिल होता है।  उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले स्टार वार शुरू हो चुका है। भाजपा और आम आदमी पार्टी अभी इसमें आगे चल रही है, जबकि कांग्रेस अभी इंतजार के मूड में है।   निर्वाचन आयोग की टीमों की इस पर पैनी नजर रहती हैं।  निर्धारित सीमा से ज्यादा खर्च होने की दशा में ऐसे प्रत्याशियों को आयोग के नोटिस झेलने पड़ते हैं और चुनाव के वक्त इनका जवाब देने में उनका समय अनावश्यक जाया होता है। भाजपा में सबसे ज्यादा डिमांड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की है। वे दो माह के भीतर उत्तराखंड के दो दौरे कर चुके हैं। पहले वे सात अक्तूबर को ऋषिकेश एम्स में आक्सीजन प्लांट जनता को समर्पित करने आए और इसके बाद पांच नवंबर को केदारनाथ धाम के दर्शन को पहुंचे। अब मोदी चार दिसंबर को दून में चुनाव रैली संबोधित करने आ रहे हैं। उधर, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस बीच दो दौरे कर चुके हैं। अक्तूबर में कुमाऊं के कई हिस्सों में आपदा के बाद वे रेस्क्यू आपरेशन

हरिद्वार: नेताओं संग फोटो खिंचवाकर बेरोजगारों को चूना लगाने वाला कछुआ गिरफ्तार

 


राष्ट्रीय स्तर के नेताओं के साथ फोटो खिंचवा कर बेरोजगार युवाओं को चूना लगाने वाले शातिर सौरभ कौशिक उर्फ कछुआ को हरिद्वार की रानीपुर पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया है। सौरभ नेताओं के साथ खींची अपनी फोटो बेरोजगार युवाओं को दिखाकर झांसे में लेता था। पुलिस के अनुसार आरोपी सौरभ बेरोजगार युवाओं को कार्मिक विभाग दिल्ली, शिक्षक और नर्स के पद पर नौकरी लगवाने के नाम पर फर्जी नियुक्ति पत्र जारी कर 40 लाख से अधिक की की ठगी कर चुका है।रानीपुर कोतवाल कुंदन सिंह राणा ने बताया कि टिबड़ी निवासी दुर्गा प्रसाद ने कि आरोपी से उसकी मुलाकात देहरादून में हुई थी। कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग दिल्ली में क्लर्क की नौकरी लगवाने के नाम पर सौरभ कौशिक उर्फ कछुआ निवासी गंगा विहार थाना गोकुलपुरी दिल्ली, मनोज, सोमेश पंत और दीपक ने दुर्गा प्रसाद से दो लाख रुपये लिये। नौकरी भी नहीं लगवाई और पैसे मांगने पर जान से मारने की धमकी दी। देहरादून नगर कोतवाली में पिछले साल जून में जीरो एफआईआर दर्ज की गई। इसके बाद मुकदमा देहरादून से रानीपुर कोतवाली ट्रांसफर हो गया। पुलिस ने आरोपी सौरभ और उसके साथियों की गिरफ्तारी के लिए कई बार दबिश दी। गिरफ्तारी नहीं होने पर गैर जमानती वारंट लिए। पुलिस के मुताबिक इस बीच सौरभ की दिल्ली में लोकेशन मिली। उपनिरीक्षक विकास रावत, कांस्टेबल सत्येंद्र यादव और पंकज देवली ने जाल बिछाकर मंगलवार रात आरोपी के घर छापा मारा और उसे दबोच लिया। कोतवाल कुंदन सिंह राणा ने बताया कि आरोपी को कोर्ट में पेश किया गया। उन्होंने बताया कि बाकी आरोपियों को भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। 



टिप्पणियाँ

Popular Post