देहरादून: दूध और इससे बने उत्पादों के सैंपल फेल, 20 व्यापारियों पर मुकदमा

 

 



देहरादून /  देहारदून में बिक रहे दूध और दुग्ध उत्पादों की गुणवत्ता को लेकर गंभीर सवाल खड़े हो रहे हैं। खाद्य सुरक्षा विभाग ने पूर्व में जिन खाद्य पदार्थों के सैंपल जांच के लिए भेजे थे, उनमें अधिकतर में दूध व दुग्ध पदार्थ अधोमानक (सब स्टैंडर्ड) पाए गए। इस पर कार्रवाई करते हुए विभाग ने 20 व्यापारियों के खिलाफ सक्षम न्यायालय में मुकदमा दर्ज कराया है।जिला खाद्य संरक्षा अधिकारी पीसी जोशी के मुताबिक फेल (सब-स्टैंडर्ड) सैंपल में सात देहरादून नगर निगम क्षेत्र, पांच देहरादून ग्रामीण व मसूरी, पांच विकासनगर व तीन ऋषिकेश के हैं। सक्षम न्यायालय में वाद दायर किए जाने के बाद अब आगे की कार्रवाई न्यायालय के आदेश पर की जाएगी। उन्होंने कहा कि नवरात्र के साथ ही त्योहारी सीजन शुरू हो गया है। लिहाजा, इस तरह की सैंपलिंग आगे भी जारी रहेगी। इसके लिए क्यूआरटी (क्विक रेस्पांस टीम) बनाकर सैंपलिंग व निगरानी कराई जा रही है। सभी अधिकारियों के लिए साप्ताहिक लक्ष्य भी जारी किए गए हैं। सैंपल की समय पर रिपोर्ट प्राप्त करने के लिए प्रयोगशाला को भी सुदृढ़ किया गया है।

औषधि निरीक्षक व पुलिस ने दवा दुकानों पर मारा छापा

डालनवाला स्थित दवाइयों की दुकानों में प्रतिबंधित दवाइयां बिकने की शिकायत पर डालनवाला कोतवाली और ड्रग विभाग की टीम ने संयुक्त रूप से छापा मारा। हालांकि, चेकिंग के दौरान प्रतिबंधित दवाइयां टीम के हाथ नहीं लगी। इंस्पेक्टर डालनवाला एनके भट्ट ने बताया कि शनिवार को किसी व्यक्ति ने सूचना दी कि आराघर चौकी के पीछे मेडिकल स्टोर बृज फार्मा, बहुगुणा मेडिकोज, मेडि होम फार्मेसी पर कुछ प्रतिबंधित दवाइयां खुलेआम बिक रही हैं।