विवादित बयान- ब्यूरोक्रेसी कुछ नहीं होती,हमारी चप्पल उठाती है: उमा भारती

 


 

पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती का विवादित बयान सामने आया है। ब्यूरोक्रेसी पर उमा भारती ने विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि लगातार ब्यूरोक्रेसी ठीक तरीके से काम नहीं कर रही है। ब्यूरोक्रेसी चप्पल उठाने के लिए होती है। दरअसल, एक ओबीसी का डेलीगेशन उनसे मिलने आया था और उसी दौरान तमाम तरह की बातचीत के दौरान उमा भारती ने इस तरह के विवादित बयान दिए हैं। उन्होंने कहा कि ब्यूरोक्रेसी कुछ नहीं होती है। चप्पल उठाने वाली होती है हमारी। हम लोग ही राजी हो जाते हैं। क्योंकि हमें समझाया जाता है कि आपका बहुत बड़ा चक्कर पड़ जाएगा। उमा भारती ने कहा कि आपको क्या लगता है कि ब्यूरोक्रेसी नेता को घुमाती है। नहीं-नहीं, अकेले में बात हो जाती है पहले और फिर ब्यूरोक्रेसी फाइल बनाकर लाती है। 11 साल केंद्र में मंत्री और मुख्यमंत्री रही हूं। पहले आपस में बैठकर हमसे बात होती है फिर फाइल प्रोगरेस होती है।  वायरल वीडियो 18 सितंबर का बताया जा रहा है। उमा भारती के विवादित बयान सामने आने के बाद कांग्रेस पार्टी की ओर से राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से  सवाल किया है।  कांग्रेस पार्टी ने आलोचना करते हुए कहा है कि ब्यूरोक्रेट्स के लिए ऐसी भाषा का इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। उमा भारती को अपने शब्द वापस लेने चाहिए।