अंकित गुर्जर मर्डर केस : तिहाड़ जेल के डिप्टी जेलर के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज, परिवार ने लगाया था हत्या का आरोप

 

 



एशिया की सबसे सुरक्षित कही जाने वाली तिहाड़ जेल में हुई उत्तर प्रदेश के इनामी गैंगस्टर अंकित गुर्जर की संदिग्ध मौत के मामले में दिल्ली पुलिस ने जेल के अधिकारी के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज कर ली है। यह एफआईआर घटना के एक सप्ताह बाद दर्ज की गई है। गुर्जर के परिवार ने जेल कर्मियों पर हत्या का आरोप लगाया था। जानकारी के अनुसार, तिहाड़ की जेल नंबर 3 में बंद गैंगस्टर अंकित गुर्जर बीते बुधवार 4 अगस्त सुबह संदिग्ध हालात में मृत पाया गया था। उसके शरीर पर चोट के निशान मिले थे। इस मामले की जांच कर रही पुलिस ने इस संबंध में हरि नगर पुलिस थाने में हत्या की धाराओं में एफआईआर दर्ज की है। एफआईआर में तिहाड़ के डिप्टी जेलर नरेंद्र मीणा का भी नाम है।

परिवार ने लगाया था हत्या का आरोप

अंकित के परिजनों ने इसे हत्या का मामला बताते हुए तिहाड़ जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी समेत पांच कर्मचारियों पर हत्या का आरोप लगाया था। जेल के डीजी संदीप गोयल ने कहा था कि शुरुआती जांच में पता चला है कि कैदियों और जेल स्टाफ में हाथापाई हुई थी। पश्चिम जिले के मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट मामले की जांच कर रहे हैं। उन्होंने कहा था कि अंकित डॉन बनना चाहता था और हत्या, लूटपाट सहित अनेक वारदात में शामिल था।