डायट प्रशिक्षितों ने नंगे पैर रैली निकालकर की भर्ती की मांग, गुरुवार को करेंगे सचिवालय कूच

 


   देहरादून /  प्रदेश के प्राथमिक विद्यालयों में रिक्त शिक्षक पदों पर होने जा रही भर्ती में देरी के खिलाफ डायट प्रशिक्षकों ने अपना आंदोलन शुरू कर दिया है। मंगलवार को प्रशिक्षित होने शिक्षा निदेशालय परिसर में नंगे पैर रैली निकालकर अपना विरोध जताया। प्रशिक्षित होना शिक्षा विभाग एवं सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए जल्द से जल्द भर्ती प्रक्रिया पूरी करने की मांग की। प्रशिक्षितों ने नियुक्ति नहीं मिल जाने तक अपना आंदोलन जारी रखने की चेतावनी दी है।मंगलवार को डायट डीएलएड प्रशिक्षित संघ के महासचिव हिमांशु जोशी के नेतृत्व में प्रदेशभर से जुटे प्रशिक्षित ननूरखेड़ा स्थित शिक्षा निदेशालय परिसर में एकत्रित हुए। हिमांशु ने कहा कि पिछले 19 माह से डायट प्रशिक्षित नियुक्ति का इंतजार कर रहे हैं। डीएलएड डायट प्रशिक्षित बार बार धरना करने पर मजबूर हैं। मंगलवार को चरणबद्ध आंदोलन के पहले दिन डायट प्रशिक्षितों ने जूते हाथ में लेकर नंगे पैर प्राथमिक शिक्षा निदेशालय से माध्यमिक शिक्षा निदेशालय तक सरकार के विरोध में नारेबाजी अपना विरोध जताया।कहा कि सरकार के इस रवैये के विरोध में प्रतिदिन धरना उग्र होगा और ऐसा तब तक जारी रहेगा जब तक सरकार हमें नियुक्ति नहीं दे देती। उन्होंने बताया डीएलएड संघ पूरे दलबल के साथ 12 अगस्त गुरुवार को सचिवालय कूच करेगा। अगर सरकार जल्दी इस पर संज्ञान नहीं लेती तो डिप्लोमा वापसी, जुलूस, मंत्री आवास स्थल पर धरना आदि कार्य करने को बाध्य होंगे। प्रदेश उपाध्यक्षा दीक्षा राणा ने कहा कि मांग पूरी नहीं होने पर प्रशिक्षित भूख हड़ताल शुरू करेंगे। उधर, बीएड प्रशिक्षितों ने भी डायट प्रशिक्षितों के आंदोलन को समर्थन दे दिया है। मंगलवार को बीएड प्रशिक्षित भी शिक्षा निदेशालय में धरना देने पहुंचे।