आजाद हिन्द फौज के प्रथम सैनिक, शहीद मेजर दुर्गामल्ल की 77वीं पुण्यतिथि पर वीर गोर्खा समिति ने किये श्रद्धासुमन अर्पित





 

 देहरादून  /  आजाद हिन्द फौज के प्रथम सैन्य अधिकारी शहीद दुर्गामल्ल की 77वीं पुण्यतिथि पर उनकी जन्मस्थली डोईवाला व देहरादून में उनकी प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किये गये। डाईवाला में वीर गोर्खा कल्याण समिति के अध्यक्ष श्रवण प्रधान, वरिष्ठ उपाध्यक्ष कमल थापा व महासचिव विशाल थापा ने शहीद मेजर दुर्गामल्ल की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किये वहीं देहरादून के गांधी पार्क में उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, मेयर सुनील उनियाल गामा, केबिनेट मंत्री गणेश जोशी वीर गोर्खा कल्याण समिति की संरक्षिका व सुप्रसिद्ध समाजसेविका सुश्री सारिका प्रधान, कर्नल बी.एम.थापा ने शहीद दुर्गामल्ल की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किये कार्यक्रम की अध्यक्षता वीर गोर्खा कल्याण समिति की उपाध्ष्क्ष श्रीमति उर्मिला तामंग ने की। शहीद मेजर दुर्गामल्ल के अन्दर देश प्रेम का जज्बा कूट-कूट कर भरा था,जब पूरे भारत पर अंग्रेजों का राज था उस वक्त अंग्रेजों से लोहा लेने के लिए 1 सितम्बर 1942 को सिंगापुर में आजाद हिन्द फौज का गठन किया गया था आजाद हिन्द फौज में दुर्गामल्ल जी की सराहनीय भूमिका रही थी जिसके लिए उन्हें प्रोन्नत करके मेजर बनाया गया था । इतना ही नहीं दुर्गामल्ल आजाद हिन्द फौज के पहले गोरखा सैनिक भी थे। मेजर दुर्गामल्ल को शत्रु सेना ने मणिपुर के कोहिमा में 27 मार्च 1944 को पकड़ लिया इस दौरान उनको बेतहाशा यातनायें दी गई लेकिन देश की आजादी का जज्बा उनके अन्दर कूट-कूटकर भरा था अन्ततः उन्हें 25 अगस्त 1944 को लाल किले की सेन्ट्रल जेल में फांसी दे दी गई। कार्यक्रम में समिति के उपाध्यक्ष सूर्य विक्रम शाही कोषाध्यक्ष टेकू थापा, सचिव सुनील खत्री, सह-सचिव देवेन शाही, संस्कृतिक सचिव श्रीमति देवकला दीवान , मेजर हबी चन्द गुरूंग, अनिल कक्कड़,,संजय मल्ल , सुरेन्द्र गुरूंग व कार्यकारणी सदस्यों में मनोज तामंग, बलदेव क्षेत्री,डम्बर थापा,संजय थापा,राजन थापा, श्रीमति यामू राना,श्रीमति आशु थापा, श्रीमति झग्गू राना, श्रीमति रितु गुरूंग, श्रीमति कर्मिता थापा, श्रीमति सोनाली शाही, दिलकुमारी शाही, आदि मुख्य रूप से मौजूद थे।