राजभवन कूच कर रहे राज्य आंदोलनकारियों और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की

 


  देहरादून  /  लंबे समय से राज्यपाल की ओर से वार्ता के लिए समय न देने और 10 फीसदी क्षैतिज आरक्षण की मांग पूरी न होने से गुस्साए राज्य आंदोलनकारियों ने बुधवार को राजभवन मार्च कर प्रदर्शन किया।इस दौरान राजभवन कूच करने जा रहे राज्य आंदोलनकारियों को पुलिस द्वारा हाथीबड़कला में बैरिकेडिंग लगाकर रोक दिया गया। जिसके बाद आंदोलनकारियों और पुलिस के बीच खूब नाेंक-झोक हुई।बारिश शुरू होने के बाद राज्य आंदोलनकारी हाथीबड़कला बैरिकेडिंग के पास ही छाता लेकर धरना प्रदर्शन में बैठ गए।प्रदेश अध्यक्ष जगमोहन सिंह नेगी ने कहा कि बीते 21 सालों से प्रदेश की सरकार ने राज्य आंदोलनकारियों की मांगों को अनदेखा किया है। मांगों के संबंध में मंच राज्यपाल से वार्ता का समय मांग रहा है, लेकिन बीते दो-तीन साल से राज्यपाल के पास आंदोलनकारियों से बात करने का समय नहीं है। जबकि, 10 फीसदी क्षैतिज आरक्षण की मांग कर पर भी सरकार कोई ध्यान नहीं दे रही है। कांग्रेस सेवा दल की सरकार के खिलाफ यात्रा कल से कांग्रेस सेवादल पुलिसकर्मियों का पुराना ग्रेड पे बहाल किए जाने की मांग को लेकर 15 जुलाई को काशीपुर से राजभवन देहरादून तक सरकार के खिलाफ तीन दिवसीय यात्रा का आयोजन करेगा। कांग्रेस सेवादल के प्रदेश प्रवक्ता अशोक मल्होत्रा ने बताया कि यात्रा को काशीपुर में कांग्रेस महानगर अध्यक्ष संदीप सहगल हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। यात्रा जसपुर, कालागढ़, कोटद्वार लालढांग श्यामपुर कनखल फेरुपुर सुल्तानपुर होते हुए लक्सर पहुंचेगी, जहां यात्रा का रात्रि विश्राम होगा।16 जुलाई यात्रा लक्सर से शुरू होकर रुड़की, ज्वालापुर हरिद्वार, ऋषिकेश होते हुए मुनि की रेती पहुंचकर रात्रि विश्राम करेगी। तीसरे दिन 17 जुलाई को मुनि की रेती से प्रदेश कांग्रेस भवन देहरादून पहुंचेगी। यहां से राजभवन के लिए प्रस्थान करेगी। जहां कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में राज्यपाल को ज्ञापन पत्र प्रेषित किया जाएगा।