कई जिलों में बारिश का ऑरेंज अलर्ट, केदारनाथ हाईवे समेत कई जगह

 


  उत्तराखंड में लगातार तीन दिन से जारी बारिश मंगलवार को राजधानी देहरादून समेत कुछ जगहों पर थमी है, लेकिन कई जिलों में बारिश का दौर जारी है। वहीं, मौसम विभाग ने आज बागेश्वर, नैनीताल और पिथौरागढ़ जिले में भारी बारिश होने की संभावना जताई है। मौसम विभाग ने बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। मौसम विज्ञान केंद्र देहरादून के निदेशक विक्रम सिंह ने बताया कि 21 और 22 जुलाई को भी नैनीताल और पिथौरागढ़ जिले के लिए बारिश की चेतावनी देते हुए यलो अलर्ट जारी किया गया है।


रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाईवे और टनकपुर-पूर्णागिरि मार्ग बंद, बदरीनाथ हाईवे खुला


लगातार हो रही बारिश के कारण रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड राजमार्ग पर अचानक भूस्खलन हो गया। रास्ते पर मलबा आने से हाईवे बंदहो गया है। वहीं, तोताघाटी  व इसके आस-पास अन्य जगहों पर भी बोल्डर और मलवा आने से बंद बदरीनाथ हाईवे दोपहर 12 बजे खोल दिया गया। उधर, गौला बैराज में नदी उफान पर आ गई। वहीं, टनकपुर-पूर्णागिरि मार्ग में हनुमानचट्टी के पास तीसरे दिन भी नहीं खुल पाया।

सीएम का केदारनाथ दौरा रद्द


प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर अतिवृष्टि व आपदा को देखते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का आज केदारनाथ व रुद्रप्रयाग का दौरा रद्द कर दिया गया है। मुख्यमंत्री आज सचिवालय में शासन के वरिष्ठ अधिकारियों और जिलाधिकारियों के साथ दोपहर 12 बजे वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में अतिवृष्टि और आपदा प्रबंधन की समीक्षा करेंगे। बैठक में लोनिवि, स्वास्थ्य, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, ऊर्जा, सिंचाई सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहेंगे।

मलबे और पेड़ की चपेट में आने से बच्चे की मौत


पौड़ी की तहसील चाकीसैंण में गदेरा(नाला) पार करते समय मालबे और पेड़ की चपेट में आने से 12 वर्षीय एक बच्चे की मौत हो गई है। तहसील प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार चोली टल्ली गांव के आठ बच्चे तारा कुंड ट्रेक पर गए थे। वापस लौटते समय कांडा में गदेरा पैदल पार करते हुए गौरव रावत पुत्र भगत सिंह उम्र 12 साल निवासी स्योली पेड़ की चपेट में आ गया। उसे उपचार के लिए सीएचसी पाबो में भर्ती किया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
 
प्रदेश में 250 सड़कें बंद
उत्तराखंड में भारी बारिश के बीच सड़कों के खुलने-बंद होने का सिलसिला जारी है। लगातार हो रही बारिश ने सड़कों को खोलने के काम में लगी कार्यदायी संस्थाओं की मुश्किलें भी बढ़ा दी हैं। सोमवार शाम तक की रिपोर्ट के अनुसार, प्रदेश में तीन नेशनल हाईवे समेत कुल 250 सड़कें अवरुद्ध हैं। लोनिवि ने एहतियातन प्रदेश में निर्माणाधीन करीब 80 पुलों का काम रोक दिया है।

आपदा की स्थिति में इन नंबरों पर करें फोन 


शासन ने आपदा की स्थिति को देखते हुए टोल फ्री नंबर जारी किए हैं।  समस्त अधिकारी किसी भी प्रकार की आपदा की सूचना राज्य आपदा नियंत्रण कक्ष के फोन नंबरों 0135-2710334, फैक्स नंबर 0135-2710335, टोल फ्री नंबर 1070, 9557444486 पर तत्काल सूचना देंगे। साथ ही पीड़ित या अन्य कोई भी व्यक्ति इन नंबरों पर फोन कर किसी भी दुर्घटना की सूचना दे सकता है।

Sources:AmarUjala