कलियुगी कुम्भकर्ण-साल में 300 दिन सोते हैंराजस्थान के पुरखाराम

 


   जयपुर /  राजस्थान में नागौर जिले में भादवा गांव में एक ऐसा व्यक्ति भी है जो साल में 300 दिन सोता है। उसके भोजन से लेकर नहाना और सभी काम नींद में होते हैं। सुनने में अजीब लगता है। लेकिन 42 वर्षीय पुरखाराम अजीब बीमारी से ग्रसित है। ज्यादा सोने के कारण परिजन और गांव के लोग उसे कुंभकरण कहते हैं। पुरखाराम को नींद से जगाने के लिए परिजनों को 2 से 3 घंटे तक मशक्कत करनी पड़ती है।

दुकान भी हो गई बंद

परिजनों का कहना है कि 23 साल पहले तक गांव में पुरखाराम की दुकान थी। लेकिन बीमारी के कारण अब वह बंद है। अब पुरखाराम का पूरा परिवार खेती से गुजारा करता है। परिवार में मां कंवरी देवी और पत्नी लिछमाा के अतिरिक्त दो बेटियां सीमा व गीता है। बेटी सीमा ने बताया कि अगर बाथरूम जाना हो तो पुखराम नींद में बेचैन हो जाते हैं। वे नींद में ही नहाते हैं। नींद में ही परिजन खाना खिलाते हैं। कंवरी देवी का कहना है कि शुरूआत मेें कई डॉक्टरों से इलाज करवाया। लेकिन नींद की बीमारी कम होने के स्थान पर बढ़ती गई। सन 2015 के बाद से यह बीमारी ज्यादा बढ़ी है। 


Sources:JNN