अयोध्याःसरयू में स्नान के दौरान आगरा के रहने वाले एक ही परिवार के 12 लोग पानी में बहे, पांच की मौत.चार लापता

 


अयोध्या   रामनगरी अयोध्या में काफा तेज बहाव वाली सरयू नदी में स्नान करने के दौरान आगरा के एक परिवार के 15 लोग पानी की धारा में बह गए। गुप्तार घाट की इस घटना के बाद खलबली मच गई। वहां पर पुलिस के गोताखोर अब इन सभी की खोजबीन में लगे हैं। रेस्‍क्‍यू के दौरान चार लोगों को सकुशल न‍िकाल ल‍िया गया, जबक‍ि पांच लोगों की मौत हो गई है।  जल पुलिस के साथ गोताखोरों ने डूबे हुए 15 लोगों में से चार को बचा लिया है। इनमें एक सात वर्षीया बच्ची भी है। इनको जिला अस्पताल भेजा गया है। चार लोग अभी भी लापता हैं। सात वर्षीया धैर्या नाम की इस बच्ची ने तैर कर जान बचा ली। इस घटना की जानकारी मिलते ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या के जिला तथा पुलिस प्रशासन के सभी वरिष्ठ अधिकारियों को मौके पर जाकर जल्द से जल्द राहत कार्य कराने का निर्देश दिया। सभी की सकुशल तलाश के लिए पीएसी के गोताखोर लगाने के भी निर्देश दिये गये हैं। एनडीआएफ की टीमों को भी बुलाया गया है। मौके पर अयोध्या के कमिश्नर तथा जिलाधिकारी भी हैं।

 


आगरा के सिकंदरा क्षेत्र के एक परिवार के 15 लोग अयोध्या में दर्शन तथा भ्रमण पर पहुंचे थे। इसी दौरान यह लोग गुप्तार घाट पर सरयू नदी में स्नान करने लगे। महेश गुप्ता के परिवार के चार लोग पहले स्नान करने सरयू नदी में उतरे। पानी के तेज बहाव में आने के कारण यह लोग डूबने लगे तो परिवार के अन्य लोगों ने उनको बचाने के लिए पानी में छलांग लगा दी। पहले से पानी में डूब रहे लोगों को बचाने के प्रयास में बाकी लोग भी काफी गहराई में चले गए।वहां पर लोगों की चीख पुकार पर कुछ स्थानीय लोग मौके पर पहुंचे और पुलिस को मामले की सूचना दी। इसके बाद अधिकारी मौके पर पहुंचे और गोताखोरों की टीम को रेस्क्यू ऑपरेशन में लगाया गया।गुप्तार घाट पर एक साथ 12 लोगों के सरयू नदी में डूबने की सूचना पर जल पुलिस सक्रिय हो गई। पुलिस के गोताखोर डूबे लोगों को खोजने में लगे हैं। राहत कार्य में आधा दर्जन से अधिक नाव तथा स्टीमर को लगा दिया गया है। पानी की धारा तेज होने के कारण डूबे लोगों के काफी आगे तक बहने की संभावना है।


 

धैर्या ने तैर कर बचाई जान

सात वर्षीया धैर्या ने संकट के क्षण में भी अपना धैर्य तथा साहस नहीं खोया और अपनी जान बचा ली। जहां एक तरफ परिवार के लोग सरयू की तेज धारा में बहे जा रहे थे वहीं सात वर्षीय बालिका धैर्या ने तैर कर खुद की जान बचा ली।

सरयू नदी में यह लोग बहे 

भारती पत्नी सतीश उम्र 35 वर्ष

- प्रियांशी पुत्री सतीश उम्र 16 वर्ष

- ललित पुत्र अशोक उम्र 40 वर्ष

- पंकज पुत्र अशोक उम्र 25 वर्ष

- राजकुमारी पत्नी अशोक 61 वर्ष

- गौरी पुत्री अशोक उम्र 28

- जूल उम्र 59

- श्रुति पुत्री देवेंद्र उम्र 20 वर्ष

- सार्थक पुत्र देवेंद्र उम्र 16 वर्ष

- सीता पत्नी सचिन उम्र 35

- दृष्टि पुत्री सचिन उम्र 4 वर्ष 

Sources:जेएनएन